जम्मू और कश्मीर: श्रीनगर में 10 दिनों के लिए सख्त कोरोना कर्फ्यू का ऐलान, यहां जानें पूरी डिटेल

कोरोना कर्फ्यू के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वालों से प्रशासन सख्ती से निपटेगा
अपडेटेड Sep 24, 2021 पर 23:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जम्मू और कश्मीर के श्रीनगर में पिछले कुछ दिनों में कोरोना संक्रमण के मामलों में काफी वृद्धि देखी गई है। बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन ने शुक्रवार से 10 दिनों के लिए सख्त कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। इस दौरान किराना, सब्जी, दूध जैसी रोजाना आवश्यकताओं वाली वस्तुओं की दुकानें सुबह 7 बजे से 11 बजे तक ही खुली रहेंगी।


श्रीनगर के जिला मजिस्ट्रेट मोहम्मद एजाज ने एक आदेश में कहा गया है कि किराना, सब्जी, मांस और दूध की दुकानें भी सुबह 7 से 11 बजे तक खुली रह सकती हैं। आदेश में कहा गया है कि वस्तुओं और आवश्यक आपूर्ति की सुचारू आवाजाही में कोई बाधा नहीं होगी।


पहचान पत्र या आधिकारिक आदेशों को दिखाकर सरकारी अधिकारी ऑफिस जा सकते हैं, उनकी आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। इसके अलावा सभी विकास या निर्माण कार्यों को बिना किसी बाधा के जारी रखने की अनुमति दी जाएगी।


India China Faceoff: 'अवैध रूप से LAC को पार किया', गलवान घाटी हिंसा के लिए चीन ने भारत को ठहराया जिम्मेदार


मोहम्मद एजाज ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को इस दौरान नहीं रोका जाएगा। कॉलोनियों, रिहायशी इलाकों और कंटेनमेंट जोन में वैक्सीनेशन कराने के लिए स्थानीय मोबाइल टीमों का गठन किया जाएगा।


क्या बंद रहेगा?


इस दौरान सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। साथ ही सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, बाजार, सैलून, नाई की दुकानें, सिनेमा हॉल, रेस्तरां, खेल परिसर, जिम, स्पा, स्विमिंग पूल, पार्क, सूस आदि भी बंद रहेंगे।


कर्फ्यू के दौरान घर के अंदर या बाहर किसी भी सामाजिक समारोह की अनुमति नहीं दी जाएगी। शादी-विवाह में शामिल होने के लिए केवल 20 व्यक्तियों तक ही सीमित होगी। अंतिम संस्कार में केवल 10 व्यक्तियों को शामिल होने की इजाजत होगी।


राज्य में कोविड की स्थिति


अधिकारियों ने बताया कि जम्मू और कश्मीर में गुरुवार को कोरोनो वायरस के 172 ताजा मामले दर्ज किए गए, जिससे संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 3,28,590 हो गई, जबकि केंद्र शासित प्रदेश से वायरस के कारण कोई ताजा मौत नहीं हुई।


अधिकारियों ने कहा कि 172 ताजा मामलों में से 21 जम्मू संभाग से और 151 केंद्र शासित प्रदेश के कश्मीर संभाग से थे। उन्होंने कहा कि श्रीनगर जिले में सबसे अधिक 67 मामले दर्ज किए गए, इसके बाद बारामूला जिले में 36 मामले दर्ज किए गए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।