किसान क्रेडिट कार्ड नहीं रखने वाले किसानों को भी मिलेगी सब्सिडी

फाइनेंस मिनिस्टर ने 2 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट स्कीम लॉन्च की है जिसके दायरे में 2.50 करोड़ वो किसान भी शामिल होंगे जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड्स नहीं हैं
अपडेटेड May 15, 2020 पर 12:52  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने किसानों, रेहड़ी लगाने वालों, प्रवासी मजदूरों और मिडिल इनकम सैलरी क्लास के लोगों को जिंदगी आसान करने के लिए कई अहम ऐलान किए हैं।


फाइनेंस मिनिस्टर ने 2 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट स्कीम लॉन्च की है। इसके दायरे में 2.50 करोड़ वो किसान भी शामिल होंगे जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड्स नहीं हैं। इसका फायदा मछुआरों और एनिमल हसबैंड्री में जुटे किसानों को इसका फायदा मिलेगा।


सरकार ने क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम जो पहले मार्च 2020 में खत्म होने वाला था। उसे बढ़ाकर अब मार्च 2021 कर दिया गया है। इस स्कीम का मकसद मिडिल इनकम ग्रुप के लिए अफोर्डेबल हाउसिंग मुहैया कराना है। अफोर्डेबल हाउसिंग बनाने वाली रियल एस्टेट कंपनियों को इसका फायदा मिलता है। इस दायरे में उन लोगों को फायदा होगा जिनकी सालाना इनकम 6 लाख रुपए से 18 लाख रुपए है।


यह स्कीम पहली बार 2017 में शुरू की गई थी। इसका फायदा 3.3 लाख परिवारों को हुआ था। इस स्कीम को बढ़ाकर अब मार्च  2022 कर दिया है जिससे और 2.5 लाख लोगों को इसका फायदा होगा।


सीतारमण ने आज 9 उपायों का ऐलान किया था। इसमें से 3 प्रवासी मजदूरों के लिए, दो किसानों, खासकर छोटे किसानों, एक-एक मुद्रा और रेहड़ी लगाने वालों के लिए, एक हाउसिंग और एक आदिवासी समूह के लोगों के रोजगार के लिए पेश किया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।