Tata Group के फाउंडर जमशेदजी टाटा हैं दुनिया के सबसे बड़े दानवीर, 102 अरब डॉलर का कर चुके हैं दान

हुरुन रिपोर्ट और एडेलगिव फाउंडेशन की दान करने वाले टॉप-50 लोगों की लिस्ट में टाटा ग्रुप के फाउंडर का नाम पहले नंबर पर है
अपडेटेड Jun 23, 2021 पर 21:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बिल गेट्स या वॉरेन बफेट नहीं, बल्कि भारतीय इंडस्ट्री के दिग्गज जमशेदजी टाटा पिछले 100 सालों में 102 बिलियन डॉलर का दान देकर विश्व स्तर पर सबसे बड़े परोपकारी के रूप में उभरे हैं। हुरुन रिपोर्ट और एडेलगिव फाउंडेशन की तरफ से तैयार की गई दान करने वाले टॉप-50 लोगों की लिस्ट में टाटा ग्रुप के फाउंडर का नाम पहले नंबर पर है।


लिस्ट में दिखाया गया है कि टाटा, जो एक ऐसे ग्रुप के फाउंडर हैं, जो आज के समय में नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाता है। वो अब बिल गेट्स और उनकी अब अलग हो चुकी पत्नी मेलिंडा जैसे दूसरे कई लोगों से आगे हैं, जिन्होंने 74.6 बिलियन डॉलर दान किए हैं।


इसके अलावा वॉरेन बफेट ने 37.4 अरब डॉलर, जॉर्ज सोरोस ने 34.8 अरब डॉलर और जॉन डी रॉकफेलर ने 26.8 अरब डॉलर का दान दिया है।


हुरुन के अध्यक्ष और मुख्य शोधकर्ता रूपर्ट हुगवेरफ ने एक बयान में कहा, "भले ही अमेरिकी और यूरोपीय परोपकारी लोग पिछली शताब्दी में परोपकार की सोच पर हावी हो गए हैं, लेकिन भारत के टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी टाटा दुनिया के सबसे बड़े परोपकारी हैं।"


उन्होंने कहा कि अपनी दो तिहाई संपत्ति ट्रस्‍ट को दे दी, जो शिक्षा और स्‍वास्‍थ्‍य सहित कई क्षेत्रों में अच्‍छा काम कर रहा है। इसी से टाटा को लिस्‍ट में शीर्ष स्‍थान हासिल करने में मदद मिली है। जमशेदजी टाटा ने 1892 से ही दान देना शुरू कर दिया था।


इस लिस्ट में एकमात्र दूसरे भारतीय Wipro के अजीम प्रेमजी हैं, जिन्होंने परोपकारी कामों के लिए लगभग 22 बिलियन डॉलर की अपनी पूरी संपत्ति दी है।


हुगवेरफ ने कहा कि अल्फ्रेड नोबेल जैसे कुछ नाम हैं जो पिछली सदी के शीर्ष 50 दानदाताओं की लिस्ट में भी नहीं हैं। लिस्ट में ज्यादातर 39 लोग अमेरिका से हैं, उसके बाद UK पांच और चीन से तीन हैं। इसमें कुल 37 दानदाताओं की मृत्यु हो चुकी है, जबकि लिस्ट में से केवल 13 लोग ही जिंदा हैं।


हुगवेरफ ने ये भी कहा, "आज के अरबपति परोपकार और दान काम करते हैं, वे जितना पैसा दे रहे हैं, उससे कहीं ज्यादा तेजी से पैसा कमा रहे हैं।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।