भारत में TESLA का आना,क्या इसका मतलब है इलेक्ट्रिक कारों का आ गया जमाना!

टेस्ला ने भारत में अपनी सब्सिडियरी कंपनी बनाई है और तीन डायरेक्टर्स नियुक्त कर दिए हैं।
अपडेटेड Jan 21, 2021 पर 10:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टेस्ला का आना मतलब इलेक्ट्रिक कारों का आ गया जमाना। टेस्ला ने भारत में अपनी सब्सिडियरी कंपनी बनाई है और तीन डायरेक्टर्स नियुक्त कर दिए हैं। टेस्ला अमेरिका की बड़ी इलेक्ट्रिक कार और क्लीन एनर्जी कंपनी है। ये कारों के अलावा बैटरी स्टोरेज, सोलर पैनल और इसी तरह के दूसरे प्रोडक्ट बनाती है। कंपनी अपने एंबिसियस प्लान्स के लिए जानी जाती है। दूसरी तरफ टेस्ला में बड़ा स्टेक एलन मस्क के पास है और मस्क आजकल बड़े न्यूजमेकर बन गए हैं। कुल मिलाकर टेस्ला और मस्क बज़ बनाने के मामले में चैंपियन हैं। इसलिए माना जा रहा है कि टेस्ला की भारत में एंट्री देश में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के लिए बड़ा संकेत है। लेकिन ऐसे बड़े ब्रांड्स के साथ रहस्य का खेल भी खूब चलता है। इसलिए ये नहीं कहा जा सकता कि टेस्ला कब आएगी। किस रूप में आएगी। इसलिए आज कंज्यूमर अड्डा में टेस्ला के मिशन इंडिया को तो समझेंगे ही साथ ही हम इसी बहाने भारत में इलेक्ट्रिक कारों की पड़ताल करेंगे जिसमें हमारा साथ दे रहे हैं। ऑटो एक्सपर्ट टूटू धवन और ऑटो एक्सपर्ट रोनोजॉय मुखर्जी।


भारत में TESLA की एंट्री!


TESLA ने भारत में बंगलुरू में सब्सिडियरी बनाई है और तीन डायरेक्टरों की नियुक्ति की है। सोशल मीडिया पर TESLA की चर्चा है। इस बारे में  बी एस येदियुरप्पा ने  ट्वीट किया था। बाद में येदियुरप्पा ने ट्वीट हटा लिया। नितिन गडकरी ने भी कहा था TESLA भारत आएगी।


TESLA कारों की खासियत परनजर डालें तो ये फुल चार्ज में सबसे ज्यादा रेंज देती हैं। कम समय में इनकी बैटरी चार्ज हो जाती है। 15 मिनट चार्ज पर 250 km का सफर किया जा सकता है। इसके खुद के 20,000 से ज्यादा चार्जिंग प्वाइंट हैं। इसकी EV में स्पोर्ट्स कार की तरह स्पीड मिलती है। सभी TESLA कारों में 4-व्हील ड्राइव है। इनकी टोटल कॉस्ट ऑफ ओनरशिप सबसे कम है।


TESLA की S Plus Model की कीमत 74,990  डॉलर और रेंज 647  किमी है। वहीं, X Plus Model की कीमत 79,990  डॉलर और रेंज 565  किमी है।  Model S की कीमत 94,990 डॉलर और रेंज  560 किमी है। Model 3 की रेंज 518  किमी और कीमत 46,990 डॉलर है।


Model Y की रेज 509 किमी और कीमत 49,990 डॉलर है। Model X की रेंज 491 किमी और कीमत 99,990 डॉलर है। Model 3 LR की रेंज 481 किमी और कीमत 54,990 डॉलर है। Model Y की रेंज 468 किमी और कीमत 59,990 डॉलर है।


भारत में मिलने वाली EV


भारत में मिलने वाली दूसरी EV की बात करें तो यहां HYUNDAI KONA, MG ZS EV, TATA NEXON EV, MAHINDRA eVERITO और MAHINDRA e2o मिलती हैं।


HYUNDAI KONA


इसकी कीमत 23.75-23.94 लाख रुपए है। ये 9.7 सेकेंड में 100 km/hr की स्पीड पकड़ सकती है। पावर  136 bhp है। फुल चार्ज में ये 452 km का सफर तय कर सकती है। इसमें DC फास्ट चार्जर से 1 घंटे में 80 फीसदी बैटरी चार्ज कर देता है। नॉर्मल चार्जर से फुल चार्ज के लिए 6-10 घंटे का समय लगता है। बैटरी पर 8 साल की वारंटी मिलती है।


MG ZS EV


- कीमत - 20.88-23.58 लाख रुपए
- रेंज - फुल चार्ज में 340 km का सफर
- पावर - 142 bhp
- 8.5 सेकेंड में 0-100 km/hr की स्पीड
- फास्ट चार्जर से 1 घंटे में 80% बैटरी चार्ज


TATA NEXON EV


- कीमत - 13.99-16.25 लाख रुपए
- रेंज - फुल चार्ज में 312 km का सफर
- पावर - 127 bhp
- फास्ट चार्जर से 1 घंटे में 80% बैटरी चार्ज
- बैटरी पर 8 साल की वारंटी


MAHINDRA eVERITO


- कीमत - 10.15 लाख रुपए
- रेंज - फुल चार्ज में 181 km का सफर
- पावर - 41 bhp
- 11 सेकेंड में 60 km/hr की स्पीड
- फास्ट चार्जर से डेढ़ घंटे में 80% बैटरी चार्ज


MAHINDRA e2o


- कीमत - 10.15-10.50 लाख रुपए
- रेंज - फुल चार्ज में 140 km सफर
- फास्ट चार्जर से डेढ़ घंटे में फुल चार्ज
- पावर - 25 bhp
- 14 सेकेंड में 100 km/hr की स्पीड


इलेक्ट्रिक कार के फायदे


इलेक्ट्रिक कार के फायदे की बात करें तो इनसे एयर पॉल्यूशन से छुटकारा मिलता है। इनसे Noise पॉल्यूशन से भी छुटकारा मिलता है। इनमें फ्यूल भरवाने की जरूरत नहीं होती। पैसे की बचत, मेंटेनेंस कॉस्ट कम होती है।


इलेक्ट्रिक कार के नुकसान


यो पेट्रोल गाड़ियों के मुकाबले महंगी होती हैं। फिलहाल चार्जिंग प्वाइंट कम हैं। एक चार्ज में रेंज की कमी भी है। बैटरी चार्ज में ज्यादा समय लगता है। 5 से 8 साल में बैटरी बदलना बड़ी मुसीबत है। स्पीड की कमी की शिकायत मिलती है।


EV की चुनौतियां


बैटरी, कंपोनेंट इम्पोर्ट पर निर्भरता बड़ी चुनौती है। फिलहाल लोकल मैन्युफैक्चरिंग पर ही इंसेंटिव मिलता है। चार्जिंग पर कंज्यूमर की आशंका है। मौजूदा EVs की ऊंची कीमतें परेशानी का बड़ा कारण हैं। हाई परफॉर्मेंस EV की कमी है। कई जगह पर बिजली सप्लाई की दिक्कत है। क्वालिटी मेंटेनेंस, रिपेयर की कमी है।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।