इस राज्य में कोरोना से मरने वालों में 56 फीसदी लोगों को नहीं थी कोई बीमारी : ICMR

UP में जितनी मौत हुई हैं, उनमें 44 फीसदी लोगों की उम्र 30 से 59 साल के बीच रही है
अपडेटेड Oct 24, 2020 पर 18:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। इस महामारी से अब तक देश में लाखों लोग जान गंवा चुके हैं। उत्तर प्रदेश में तो कोरोना वायरस की चपेट कम उम्र के लोग भी आ चुके हैं और उनके लिए यह महामारी जानलेवा साबित हो रही है। सूबे में अब तक जितनी मौत हुई हैं उनमें 56 फीसदी ऐसे लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा है, जिन्हें कोरोना वायरस से पहले कोई बीमारी नहीं थी।


एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस से मौत के मामले में इंडियन मेडिकल रिसर्च काउंसिल (Indian Council of Medical Research -ICMR) की रिपोर्ट में बेहद चौंकाने वाले नतीजे सामने आए हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से जितनी मौत हुई हैं, उनमें करीब 44 फीसदी 30 से 59 साल के लोग थे। कोरोना वायरस से सबसे अधिक मौत प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुई है। इसके बाद मेरठ, बनारस, कानपुर नगर और गोरखपुर में हुई है। मेरठ में मृत्यु दर 2.4 फीसदी है। इस रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि अमरोहा, फतेहपुर, मथुरा, आजमगढ़, बहराइच, संभल, रायबरेली, सिद्धार्थनगर, अमेठी और कासगंज में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादात बढ़ती जा रही है।


रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस का पीक दौर गुजर चुका है। स्थित पूरी तरह से नियंत्रण में है। लेकिन जिला और अस्पताल स्तर पर एक समीक्षा करने की आवश्यकता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।