उत्तर प्रदेश कैबिनेट का विस्तार, जितिन प्रसाद और छह अन्य बने मंत्री

राज्य मंत्रिमंडल में निषाद पार्टी के संजय निषाद को शामिल करने की अटकलें गलत साबित हुई
अपडेटेड Sep 27, 2021 पर 12:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार में रविवार को जितिन प्रसाद सहित सात नए मंत्रियों को कैबिनेट में शामिल किया गया। जितिन पहले कांग्रेस के साथ थे और वे जून में पाला बदलकर बीजेपी से जुड़े थे। राज्य में अगले वर्ष की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होना है।


जितिन के अलावा छत्रपाल सिंह, पलटु राम, संगीता बलवंत, संजीव कुमार, दिनेश खटीक और धर्मवीर सिंह को मंत्री बनाया गया है।


इनमें से जितिन को कैबिनेट मंत्री और बाकी को राज्य मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई।


केंद्र सरकार ने जलन के कारण मुझे रोम ग्लोबल पीस मीटिंग में नहीं जाने दियाः ममता बनर्जी


उत्तर प्रदेश में इससे पहले 53 मंत्री थे और सात मंत्रियों की जगह संवैधानिक लिमिट के अनुसार खाली थी। इनमें से मुख्यमंत्री सहित 23 कैबिनेट मंत्री थे। जितिन के साथ अब कैबिनेट मंत्रियों की संख्या 24 हो गई है।


राज्य में मंत्रियों की कुल संख्या इसकी विधानसभा में कुल सीटों के 15 प्रतिशत तक हो सकती है। राज्य सरकार में निषाद पार्टी के संजय निषाद को भी शामिल करने की अटकलें थी लेकिन उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया।


निषाद ने हाल ही में बीजेपी से उन्हें चुनाव में संभावित उप मुख्यमंत्री के तौर पर सामने लाने की मांग की थी। उनका दावा है कि राज्य के मतदाताओं में लगभग 18 प्रतिशत निषाद समुदाय से हैं और ये 160 विधानसभा सीटों पर निर्णायक भूमिका निभाते हैं।


पिछले लोकसभा चुनाव में निषाद पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया था और संजय निषाद के बेटे प्रवीन निषाद को संत कबीर नगर से उम्मीदवार बनाया गया था जहां से वह चुनाव जीते थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।