वंदे भारत का दूसरा चरण 16 मई से शुरू, 32 देशों में फंसे भारतीयों की होगी वतन वापसी

वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 16 मई से 22 मई तक चलेगा। इसके तहत 32 देशों में फंसे भारतीयों को लाया जाएगा
अपडेटेड May 14, 2020 पर 16:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पूरी दुनिया में कोरोना काल चल रहा है। सभी देश लॉकडाउन की स्थित में हैं। लिहाजा उड़ानें बंद हो चुकी है। ऐसे में कई भारतीय विदेशों में फंसे हुए हैं। उन्हें वतन वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन की शुरुआत की गई थी। इसके पहले चरण में 12 देशों से फंसे भारतीय नागिरकों की वतन वापसी कराई गई थी।


अब इसके दूसरे चरण के दायरे को थोड़ा बढ़ाया जा रहा है। दूसरे चरण में 32 देशों से फंसे भारतीयों की वतन वापसी कराई जाएगी। दूसरा चरण 16 मई से 22 मई तक चलेगा। इसमें 149 उड़ानें संचालित की जा सकती हैं। दूसरे चरण में भी एयर इंडिया (Air India) और उसकी सहायक कंपनी एयर इंडिया एक्सप्रेस (Air India Express) इस मिशन का हिस्सा होंगी।


दूसरे चरण की खासियत ये है कि जिन भारतीय यात्रियों को वंदे भारत मिशन के तहत विदेश से लाया गया है, उनके लिए विशेष घरेलू उड़ानें शुरू की जाएंगी।
यह सुविधा विशेष परिस्थियों के लिए है, जब देश में लॉकडाउन घोषित है, ऐसे में सड़क के जरिए पहुंचना मुश्किल है लिहाजा उन्हें गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए विशेष उड़ानें शुरू की जाएंगी।  


बुधवार को 13 उड़ानों में विदेश में फंसे 2,669 यात्रियों को भारत लाया गया है। पहला चरण 7 मई से शुरू हुआ था, जिसमें पहले चरण में 12 देशों से 10,000 से अधिक भारतीय नागरिकों को वापस लाया जा चुका है। जिसमें 60 इंटरनेशनल फ्लाइट्स ऑपरेट की गईं।


बता दें कि पहले चरण में 12 देशों से फंसे भारतीय नागरिकों की वतन वापसी के लिए दिनों में 64 फ्लाइट्स ऑपरेट करनी थी। 


कुल मिलाकर दुनिया भर में फंसे 190,000 से अधिक भारतीय नागरिकों की चरणबद्ध तरीके से वतन वापसी की उम्मीद है। इस मिशन में यात्रियों को अपना किराया खुद देना होता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।