लाल किले से पीएम मोदी ने कहा- Vocal for local को हर भारतीय जीवन मंत्र बनाए

पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत केवल एक शब्द नहीं है बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के लिए एक मंत्र बन गया है
अपडेटेड Aug 16, 2020 पर 08:51  |  स्रोत : Moneycontrol.com

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्रचीर से देश को संबोधित किया। उन्होंने देश को आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए स्थानीय प्रोडक्ट को खरीदने पर जोर दिया।  


पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत पूरी दुनिया की भलाई के लिए जरूरी है। देश के हर नागरिक को आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए कुछ न कुछ अपना योगदान देना जरूरी होगा। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत केवल एक शब्द नहीं है बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के लिये एक मंत्र बन गया है। भारत जब एक बार किसी काम करने की ठान लेता है, तो फिर उसे करके ही छोड़ता है।


कोरोना वायरस के इस दौर में उन्होंने अर्थव्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि दुनिया की अर्थव्यवस्था में भारत का योगदान बढ़ाना जरूरी है। कच्चा माल हम कब तक निर्यात रहेंगे। और तैयार माल का कब तक आयात करते रहेंगे। हमें खुद कच्चे माल (raw materials) की कीमत बढ़ाकर तैयार माल का निर्यात करने की जरूरत है।
पीएम मोदी ने करीब डेढ़ घंटे के भाषण में आत्मनिर्भर भारत पर जोर दिया। उन्होंने देश में एग्रीकल्चर सेक्टर, इन्फ्रास्टक्चर सेक्टर डिजिटल भारत, स्किल्ड इंडिया पर अपनी बात रखी। 


कुछ क्षेत्र बहुत आगे हैं, कुछ क्षेत्र बहुत पीछे। कुछ जिले बहुत आगे हैं, कुछ जिले बहुत पीछे। ये असंतुलित विकास आत्मनिर्भर भारत के सामने बहुत बड़ी चुनौती है।
पीएम मोदी ने कृषि सेक्टर पर कहा कि आत्मनिर्भर भारत की एक अहम प्राथमिकता है। आत्मनिर्भर कृषि और आत्मनिर्भर किसान। देश के किसानों को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर देने के लिए कुछ दिन पहले ही एक लाख करोड़ रुपये का एग्रीकल्चर इनफ्रास्ट्रक्चर फंड बनाया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा वोकल फॉर लोकल, Re-Skill और Up-Skill का अभियान, गरीबी की रेखा के नीचे रहने वालों के जीवनस्तर में आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा।


मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय देश के चार महानगरों को जोड़ने वाली स्वर्णिम चतुर्भुज सड़क परियोजना पर काम हुआ। हमें उससे आगे जाना है। सड़क, बंदरगाह, रेल, हवाई यातायात सभी को आपस में जोड़ना है। मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी की तरफ बढ़ना है। पूरे इन्फास्ट्रक्चर सेक्टर को नया दिशा देना है। समुद्री तट के हिस्से में सड़क बनानी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।