'हमें अपने बच्चों को बचाना है', दिल्ली के स्कूलों को फिर से खोलने पर AIIMS के डॉक्टर ने दी ये सलाह

AIIMS के नवनीत विग ने कहा कि बच्चे घर से तंग आ चुके हैं, लेकिन स्कूल जाने के बाद, जोखिमों को भी देखना जरूरी है
अपडेटेड Aug 29, 2021 पर 10:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली सरकार (Delhi Government) की चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को फिर से खोलने (Schools Reopening) की घोषणा के बाद, मेडिकल एक्सपर्ट्स ने बच्चों पर ज्यादा ध्यान देने पर जोर दिया है, क्योंकि देश में बच्चों को अभी वैक्सीन नहीं लगाई है। ANI की रिपोर्ट के अनुसार, AIIMS के नवनीत विग ने कहा कि हालांकि बच्चे घर से तंग आ चुके हैं, लेकिन स्कूल जाने के बाद, जोखिमों को भी देखना जरूरी है।


विग ने कहा, "हमें फायदे और नुकसान दोनों को देखना होगा। हम जानते हैं कि बच्चे घर से तंग आ चुके हैं, लेकिन हमें जोखिमों को भी देखना होगा। इन बच्चों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है। एक बार जब वे स्कूल जाएंगे, तो हमें उनका उतना ही ध्यान रखना होगा, जितना कि बिना वैक्सीन वाले किसी शख्स को रखना चाहिए।"


बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोनावायरस के मामलों में गिरावट के मद्देनजर, दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को कहा कि स्कूल, कॉलेज और दूसरे शैक्षणिक संस्थान चरणबद्ध तरीके से फिजिकल क्लास फिर से शुरू कर सकते हैं, जो 1 सितंबर से शुरू हो रही है।


दिल्ली सचिवालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आश्वासन दिया कि किसी भी छात्र को फिजिकल क्लास में आने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा।


सिसोदिया ने कहा, "किसी भी बच्चे को फिजिकल क्लास में आने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा और कोई अनिवार्य उपस्थिति नहीं होगी। छात्रों को फिजिकल क्लास से शामिल होने के लिए माता-पिता की सहमति जरूरी होगी।"


शुक्रवार को दिल्ली सरकार ने एक स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा कि पिछले 24 घंटों में 0.06% के पॉजिटिविटि रेट के साथ संक्रमण के 46 नए मामले आए और कोई अतिरिक्त मौत नहीं हुई। 


टेस्ट पॉजिटिविटि रेट 89 दिनों के लिए 1% से कम रहा, दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने चरणबद्ध तरीके से 1 सितंबर से स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति देने का निर्णय लिया।


डॉ. विग ने बच्चों को उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए स्कूलों में जाने की अनुमति देते हुए संतुलन बनाए रखने और टेस्ट पॉजिटिविटि रेट 0.5% से कम रहने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा, "हमें अपने बच्चों को बचाना है। स्कूलों में स्वच्छता, सफाई, मास्क सुनिश्चित किया जाना चाहिए।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।