Zydus Cadila सितंबर महीने में लॉन्च करेगी ZyCoV-D वैक्सीन, 1-2 हफ्ते में कीमत होगी तय

Zydus के पास ZyCoV-D की सालाना 10-12 करोड़ डोज बनाने की क्षमता है
अपडेटेड Aug 23, 2021 पर 07:51  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इंडियन फार्मास्युटिकल कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) की कोरोना वैक्सीन जायकोव-डी (ZyCoV-D) को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।


यह DNA आधारित दुनिया की पहली स्वदेशी वैक्सीन है। इस वैक्सीन को लगवाने में न सुई का इस्तेमाल होगा और न ही दर्द होगा। कंपनी ने कहा है कि वो इसे सितंबर महीने में लॉन्च करने की तैयारी में है। इस वैक्सीन को 12 साल एवं इससे अधिक उम्र के लोगों को दिया जा सकता है।


जायडस कैडिला के मैनेजिंग डायरेक्टर शर्विल पटेल (Sharvil Patel) ने कहा है कि हम इसे जल्द से जल्द लॉन्च करने की तैयारी में हैं। वैक्सीन की कीमत पर बात करते हुए पटेल ने कहा कि कंपनी रेगुलेटर के साथ कम कर रही है। अगले एक-दो हफ्ते में कीमत तय होने की उम्मीद है।


पटेल ने आगे कहा कि वैक्सीन की कीमत तकनीकी, डिलीवरी और वॉल्यूम पर निर्भर करेगी और हमारे पास इसकी बेंचमार्क प्राइसिंग भी है। पटेल ने कहा कि कंपनी दिसंबर के आखिरी तक ZyCoV-D की 4 करोड़ डोज और जनवरी के अंत तक करीब 5 करोड़ सप्लाई करने का लक्ष्य बना रहे हैं। Zydus के पास सालाना 10-12 करोड़ डोज बनाने की क्षमता है।


कोरोना वैक्सीन का बूस्टर कितना जरूरी, क्या इससे रुकेगा डेल्टा प्लस वेरिएंट!


उन्होंने कहा कि हमारे लिए अब सबसे महत्वपूर्ण चुनौती यह है कि नई सुविधा में प्रोडक्शन को एक करोड़ डोज को कैसे बढ़ाया जाए। जायडस आने वाले महीनों में वैक्सीन के प्रोडक्शन को बढ़ाने के लिए संभावित पार्टनर्स (partners) के साथ भी चर्चा कर रह है। पटेल ने कहा कि कंपनी पार्टनर्स के साथ काम कर रही है और हमारे पास टेक्नोलॉजी ट्रांसफर करने के लिए विदेशों से अनुरोध आ रहे हैं।


लगेंगी तीन डोज


जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन ZyCoV-D कई मायनों में खास है। इसकी एक या दो नहीं बल्कि तीन डोज लेनी होगी। साथ ही यह नीडललेस है। मतलब इसे सुई से नहीं लगाया जाता। यह पहली पालस्मिड DNA वैक्सीन है। इसके साथ-साथ इसे बिना सुई की मदद से फार्माजेट तकनीक (PharmaJet needle free applicator) से लगाया जाएगा। जिससे साइड इफेक्ट के खतरे कम होते हैं। बिना सुई वाले इंजेक्शन में दवा भरी जाती है, फिर उसे एक मशीन में लगाकर बांह पर लगाते हैं। मशीन पर लगे बटन को क्लिक करने से टीका की दवा शरीर के अंदर पहुंच जाती है।


Covid Vaccine: Zydus Cadila की ZyCoV-D को DCGI की मंजूरी, 12 साल और उससे ज्यादा उम्र के बच्चों को लगाई जाएगी ये वैक्सीन


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।