Moneycontrol » समाचार » मनीकंट्रोल बाजार

100 शेयर 20 सितंबर से 10-50% गिरे, क्या निवेश करने का सही मौका है?

इस दौरान करीब 69 कंपनियां अपने 52 हफ्तों के हाइएस्ट लेवल से 50-90 फीसदी तक गिर चुके हैं
अपडेटेड Oct 14, 2019 पर 16:25  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सरकार के कॉरपोरेट टैक्स घटाने के बाद ऐसा लग रहा था कि शेयर बाजार की किस्मत बदल गई है। लेकिन जल्द ही बाजार पर बिकवाली हावी हो गई। इससे सेंसेक्स और निफ्टी अपने अहम सपोर्ट लेवल से नीचे आ गए हैं।


20 सितंबर को जब फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने कॉरपोरेट टैक्स घटाने का फैसला किया तो बाजार में अच्छी तेजी आई। हालांकि, अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर बढ़ने और नेगेटिव खबरों से एकबार फिर बाजार पर नेगेटिव सेंटीमेंट हावी हो गया। 20 सितंबर से अभ तक के आंकड़ों को देखें तो S&P BSE 500 index के करीब 121 शेयरों में 10 से 50 फीसदी की गिरावट आ चुकी है।


सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयरों में  JSW Steel, The South Indian Bank, Karnataka Bank, Apar Industries, Ashoka Buildcon, Federal Bank, IDFC, Bank of India, DLF, United Bank of India, Indiabulls Housing Finance सहित कुछ दूसरी कंपनियां हैं।


इक्विटी रिसर्च आशिका ग्रुप के प्रेसिडेंट पारस बोथरा ने कहा, "कई नेगेटिव न्यूज की वजह से बाजार का सेंटीमेंट कमजोर हो गया है। ब्रेग्जिट और अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर के कारण ग्लोबल मार्केट में नेगेटिविटी है।"


उन्होंने कहा, अगर घरेलू मार्केट की बात करें तो कॉरपोरेट डिफॉल्ट और PMC क्राइसिस की वजह निवेशकों का भरोसा टूटा है। इसके अलावा ग्लोबल कारणों की वजह से यह डर है कि मौजूदा स्लोडाउन बढ़ सकता है।


खरीदारी का मौका?


बाजार की हालिया उतारचढ़ाव में कुछ शेयरों में खरीदारी का भी मौका बना है। AceEquity के आंकड़ों के मुताबिक, BSE 500 में लिस्टेड कंपनियों में से करीब 82 फीसदी यानी 400 कंपनियों के शेयर 52 हफ्तों के हाइएस्ट लेवल से 10 फीसदी नीचे है।


करीब 69 कंपनियां अपने 52 हफ्तों के हाइएस्ट लेवल से 50-90 फीसदी तक गिर चुके हैं। इनमें  Wockhardt, Rain Industries, Indian Bank, IRB Infrastructure, Inox Wind, Indiabulls Ventures, Reliance Communication सहित कुछ दूसरी कंपनियां हैं।


Kshitij Anand की रिपोर्ट


निवेश के विचार एनालिस्ट के निजी हैं।
 
सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (
https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।