Moneycontrol » समाचार » मनीकंट्रोल बाजार

सेंसेक्स-निफ्टी की रिकॉर्ड तेजी के बीच इन 5 शेयरों से मिलेगा तगड़ा मुनाफा

ये शेयर अगले 12-18 महीने में 15-44 फीसदी तक रिटर्न दे सकते हैं
अपडेटेड Jan 14, 2020 पर 16:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका और ईरान के बीच जियो पॉलिटिकल टेंशन घटने और अमेरिका-चीन के बीच इसी हफ्ते ट्रेड डील होने की उम्मीद से बाजार में तेजी रही है। इंफोसिस के बेहतर नतीजे से उत्साहित होकर 13 जनवरी को सेंसेक्स और निफ्टी ने नया रिकॉर्ड बनाया था।


फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने सितंबर 2019 में कॉरपोरेट टैक्स घटाने का ऐलान किया था। उसके बाद से अब तक निफ्टी में 15 फीसदी की रैली आ चुकी है। वहीं इस दौरान निफ्टी मिडकैप में 14 फीसदी की तेजी आई है। शेयर बाजार को उम्मीद है कि 1 फरवरी को बजट में और छूट का ऐलान हो सकता है।


मौजूदा दौर में अगर आप भी बाजार में निवेश करके पैसा कमाना चाहते हैं तो इन 5 शेयरों पर विचार कर सकते हैं। ये शेयर अगले 12-18 महीने में 15-44 फीसदी तक रिटर्न दे सकते हैं। 


नूलैंड लैब्स (Neuland Laboratories)


बीपी इक्विटीज ने बाय रेटिंग देते हुए नूलैंड लैब्स (Neuland Laboratories) के शेयरों की कवरेज शुरू की है। ब्रोकरेज हाउस ने इसका टारगेट प्राइस 663 रुपए तय किया है।कंपनी का मौजूदा मार्केट प्राइस अपने 52 हफ्ते के हाई से 45 फीसदी नीचे है। ऐसे में ब्रोकरेज फर्म का मानना है कि नूलैंड लैब्स के शेयरों में एंट्री करने का यह सही वक्त है।


ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, फिस्कल ईयर 2019-22 के बीच कंपनी की रेवेन्यू ग्रोथ 13.8 फीसदी CAGR से बढ़ेगी। कंपनी के पोर्टफोलियो में हाई वैल्यू और हाई बैलेंस प्रोडक्ट है जिसकी वजह से पोर्टफोलियो बैलेंस है।


ओरिएंट इलेक्ट्रिक (Orient Electric)


SAP सिक्योरिटीज ने ओरिएंट इलेक्ट्रिक के कवरेज की शुरुआत बाय रेटिंग के साथ की है। इसका टारगेट प्राइस 240 रुपए है। देश में पंखों के बाजार में कंपनी का दबदबा है और इसके पंखे देश के बाहर भी एक्सपोर्ट होते हैं।


प्रीमियम सेगमेंट पर फोकस के साथ ओरिएंट का इस सेगमेंट पर दबदबा है। कंपनी के पास करीब 50 फीसदी मार्केट शेयर है। ओरिएंट इलेक्ट्रिक सीके बिड़ला ग्रुप का पार्ट है। बाजार में इसने अलग नाम से अपनी पहचान बनाई है। दो साल पहले ओरिएंट पेपर एंड इंडस्ट्रीज से यह कंपनी अलग हुई थी।


एक्सिस बैंक (Axis Bank)


आनंद राठी ने एक्सिस बैंक के कवरेज की शुरुआत बाय रेटिंग देते हुए की है। इसका टारगेट प्राइस 902 रुपए तय किया है। एसेट क्वालिटी ट्रेंड सुधरने और बेहतर स्ट्रैटेजी से बैंक अपना रिटर्न रेशियो सुधार सकता है।


एक्सिस बैंक के मैनेजमेंट ने यह संकेत दिए हैं कि उनके लोन बुक की ग्रोथ इंडस्ट्री की ग्रोथ के मुकाबले 5-7 फीसदी ज्यादा रह सकती है। मार्जिन के फ्रंट पर बात करें तो मैनेजमेंट ने गाइडेंस दिया है कि फिस्कल ईयर 2020 में बैंक का नेट इंटरेस्ट मार्जिन (NIM) फिस्कल ईयर 2019 के मुकाबले ज्यादा रहेगा। बैंक ने दोहराया है कि मीडियम टर्म मे उसका NIM 3.5-3.8 फीसदी रह सकता है।


अरविंद (Arvind)


सुशील फाइनेंस का मानना है कि डेनिम बिजनेस में रिवाइवल और गारमेंट बिजनेस के कैपिटल एक्सपेंडिचर से टेक्सटाइल सेगमेंट का कारोबार बढ़ेगा।


टेक्सटाइल बिजनेस के बाद अरविंद का एडवांस मटीरियल्स बिजनेस भी कंपनी को बेहतर ग्रोथ देगा। सुशील फाइनेंस ने अरविंद के शेयरों का टारगेट प्राइस 56 रुपए तय किया है जो अगले 15-17 महीनों में हासिल हो सकता है।


ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (Transport Corporation of India)


ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया सबसे तेजी से बढ़ने वाली लॉजिस्टिक्स सर्विस प्रोवाइडर है। SKP सिक्योरिटीज का मानना है कि GST, भारतमाला और सागरमाला जैसी परियोजनाओं के लागू होने से कंपनी को काफी फायदा होगा। वैल्यू एडेड बिजनेस पर फोकस होने की वजह से ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के पास बेहतर बिजनेस मिक्स है। इसका फायदा भी कंपनी को होगा। ब्रोकरेज फर्म ने इसके शेयर खरीदने की सलाह देते हुए इसका टारगेट प्राइस 355 रुपए तय किया है। कंपनी अगले 18 महीनों में यह टारगेट हासिल कर सकती है।


निवेश के विचार जानकारों के निजी हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।