Moneycontrol » समाचार » मनीकंट्रोल बाजार

राकेश झुनझुनवाला ने इन शेयरों में घटाई हिस्सेदारी, जानिए आप क्या करें?

दिसंबर तिमाही में राकेश झुनझुनवाला ने टाइटन में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है
अपडेटेड Jan 16, 2020 पर 10:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जाने-माने निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) ने अपने पोर्टफोलियो के 4 शेयरों में हिस्सेदारी घटाई है। झुनझुनवाला की दिसंबर तिमाही की शेयरहोल्डिंग डाटा में उनके पोर्टफोलियो के एक दर्जन से ज्यादा शेयरों की जानकारी मिली है।


फर्स्टसोर्स सॉल्यूशंस में झुनझुनवाला ने दिसंबर तिमाही में अपनी हिस्सेदारी 0.32 फीसदी घटाकर 19,300,000 शेयर या 2.78 फीसदी कर ली है। सितंबर तिमाही में उनके पास 21,470,000 शेयर थे।


फेडरल बैंक में झुनझुनवाला ने अपनी हिस्सेदारी घटाकर 56,821,069 शेयर यानी 2.90 फीसदी कर लिया। इससे पहले सितंबर तिमाही में उनके पास 3.11 फीसदी यानी 60,721,060 शेयर थे। 


झुनझुनवाला ने ओरिएंट सीमेंट में अपनी हिस्सेदारी घटाकर 1.17 फीसदी यानी 2,400,000 शेयर कर लिया। इससे पहले सितंबर तिमाही में झुनझुनवाला के पास 1.22 फीसदी हिस्सेदारी थी। राकेश झुनझुनवाला ने एडलवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज में भी अपनी हिस्सेदारी 0.03 फीसदी घटाकर 1.04 फीसदी कर ली। इससे पहले सितंबर तिमाही में उनके पास 1.07 फीसदी स्टेक था। ह


हालांकि उनकी हिस्सेदारी MCX, मैन इंफ्राकंस्ट्रक्शन, क्रिसिल, NCC, एपटेक और जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज में जस की तस बनी हुई है।


टाइटन पर क्या है राकेश झुनझुवाला की राय?


झुनझुनवाला ने दिसंबर तिमाही में टाइटन में हिस्सेदारी खरीदी है। इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबकि, उन्होंने कहा कि टाइटन के नए MD आने से उन्हें कोई चिंता नहीं है। टाइटन के पूर्व MD भास्कर भट्ट की जगह सीके वेंकटरमण ली है।


राकेश झुनझुनवाला को फार्मा सेक्टर से काफी उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर फिलहाल स्ट्रक्चरल इश्यू से जूझ रहा है। वहीं इलेक्ट्रिक व्हीकल थीम के नाम पर बहुत ज्यादा हो चुका है।


सीमेंट स्टॉक्स भी ओवर वैल्यूड हो चुके हैं। झुनझुनवाला ने कहा कि अगर आप इनमें से किसी शेयर को चुनना चाहते हैं तो सीमेंट और स्टील कंपनियों की अर्निंग पर गौर करना होगा।


झुनझुनवाला को उम्मीद है कि इस साल बजट में सरकार रियल एस्टेट को कोई खुशखबरी दे सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार रियल एस्टेट में निवेश को टैक्स फ्री कर सकती है। सरकार को बिजनेस समुदाय को यह संदेश देना जरूरी है कि वो उनके साथ है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।