Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

आज से पहला कदम के चौथे सीजन का आगाज़

सौरभ मुखर्जी ने निवेश का गुरू मंत्र देते हुए कहा कि लंबी अवधि के लिए अच्छी कंपनियों में निवेश करना चाहिए।
अपडेटेड Jul 28, 2018 पर 16:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ आपको सिर्फ कमाई के टिप्स ही नहीं, बल्कि निवेश की सीख भी देता है। इसी मुहिम में भारत के सबसे बड़े फाइनेंशियल लिट्रेसी शो पहला कदम के चौथे सीजन का आगाज़ आज से हो गया है। आर्थिक आजादी के लिए करें कितनी बचत और कहां निवेश इन सभी बिंदुओं पर इस पहल में चर्चा की जाती है। पहल के पहले तीन सीजन में सीएनबीसी-आवाज़ देश के अलग-अलग शहरों में पहला कदम के साथ पहुंचा और आर्थिक आजादी की तरफ बढ़ रहे कदमों को सही रास्ता दिखाने का काम किया। चौथे सीजन की शुरुआत करते हुए हैं सीएनबीसी-आवाज़ के प्रबंध संपादक आलोक जोशी ने कहा कि देश में अभी फाइनेंशियल लिट्रेसी की बहुत जरूरत है इसलिए पहला कदम का चौथा सीजन लाने की जरूरत पड़ी।


आज चर्चा में शामिल रहे रिजर्व बैंक के पूर्व डिप्टी गवर्नर हारुन राशिद खान, एक्सिस सिक्योरिटी के एमडी और सीईओ अरुण ठुकराल, एसबीआई म्यूचुअल फंड की एमडी और सीईओ अनुराधा राव और एम्बिट कैपिटल के पूर्व सीईओ सौरभ मुखर्जी।


इस मौके पर आरबीआई के पूर्व डिप्टी गवर्नर हारुन राशिद खान ने सीएनबीसी-आवाज़ की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि दुनिया के मुकाबले हमारे देश में अभी भी म्युचुअल फंड में निवेश कम है। हालांकि, लोगों का रुझान फाइनेंशियल मार्केट में निवेश की तरफ बढ़ रहा है। देश में एमएफ जीडीपी का 10-11 फीसदी है। विश्व स्तर से ये अभी कम है। देश में पिछले साल 23000 करोड़ रुपये निवेश एमएफ से आया। छोटे कस्बों और शहरों की तरफ से लोगों में रुझान बढ़ा है। इक्विटी और पूंजी बाजार में भी रुचि बढ़ी है। लेकिन अभी और आगे बढ़ना है।


पहला कदम के सीजन 4 के आगाज के मौके पर एम्बिट कैपिटल के पूर्व सीईओ सौरभ मुखर्जी ने निवेश का गुरू मंत्र देते हुए कहा कि निवेशकों को मोटी कमाई के लिए लंबी अवधि के लिए अच्छी कंपनियों में निवेश करना चाहिए। 10 साल के लिए 10-15 शेयरों में पैसा लगाएं और अच्छी ग्रोथ और रिटर्न देने वाली कंपनियों को चुनें।