Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

एक्ट्रेस आश्का के साथ चलें सही निवेश की राह

प्रकाशित Mon, 23, 2018 पर 09:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अपने सपनों को हकीकत में बदलना चाहते हैं। जानना चाहते हैं कि आपके इरादों का साथ आपकी जेब दे पाएगी या नहीं। अपने पर्सनल फाइनेंस की प्लानिंग खुद आमने सामने बैठ कर करवाना चाहते हैं तो आवाज़ पर मिलिए आश्का से। आश्का को आप एक मशहूर टीवी एक्ट्रेस के तौर पर तो जानते हैं लेकिन पर्सनल फाइनेंस की दुनिया में भी उन्होंने दर्शकों से एक नया नाता जोड़ लिया है।


तो आइए सबसे पहले जान लेते हैं कैसे करें निवेश की शुरुआत? कहा जाता है जब जागो तब सवेरा लेकिन फाइनेंशियल प्लानिंग के मामले में आपको थोड़ा जलदी जागना होगा क्योंकी जितनी जल्दी निवेश करना शुरू किया जाए वेल्थ क्रिएशन उतनी ही जल्द और आसान होता है। पावर ऑफ कम्पाउंडिंग यानि फाइनेंशियल प्नानिंग के इस बड़े पहलू को हम अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं। पढ़ाई खत्म करते ही जब नौकरी लगती है तो कुछ साल तक हम कई युवा ये सोचते ही नहीं की निवेश किस चिड़िया का नाम है। लेकिन अगर जिम्मेदारियों का बोझ सिर पर आए उससे पहले अपने पैसों को मर्जी से महंगे, गैजेट, कपड़ों और घड़ियों पर खर्चने की जगह बचत का रास्ता दिखाएं। अब ये करने के लिए कोई लंबी चौड़ी प्लानिंग नहीं चाहिए न ही आपको बहुत सारी शॉपिंग पर कम्प्रोमाइज  करना पड़ेगा। हां खुद के पैसों को प्लानिंग के साथ इस्तेमाल करना होगा। कैसे ये हम आपको बताते हैं गेट रिच में और यहां हम खास कर नए नए नौकरी पैशा युवाओं के लिए ये गुत्थी सुलझाएंगे।


युवा अकसर ये सोचने की भूल कर बैठते हैं कि भविष्य के लिए निवेश करने के लिए उनका पास काफी लंबा समय है। इससे निवेश का पहिया धीमी गति से आगे बढ़ता है। क्यों की निवेश की सड़क पर गाड़ी जितनी जलदी उतरेगी, उतनी तेजी से बढ़ेगी। निवेश के कुछ मूल मंत्र हैं एक नजर डालते हैं, कैसे आप अपने पैसे को शुरूआत से ही काम पर लगा सकते हैं। तो कमाई शुरू होते ही निवेश की शुरुआत करें। शुरुआती दौर में जिम्मेदारी कम होने से निवेश करना आसान होगा।निवेश जल्द शुरू करने से बचत और निवेश की आदत पड़ती है। 2-5 हजार रुपये महीने से निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।


पहले निवेश करें फिर शौक पूरे करें। जितनी आमदनी बढ़े, उतना निवेश बढ़ाएं। सबसे अहम बात ये कि निवेश बीच में रोके नहीं। निवेश को न तोड़ें, अचानक आने वाले खर्चों के लिए इमरजेंसी फंड बनाएं। लंबे समय के लिए एमएफ में निवेश करें। क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल बहुत जरूरी हो तभी करें। अगर आप 10 हजार रुपये महीना 25 साल की उम्र में निवेश करना शुरू करते हैं तो 45 साल तक आप कम से कम 75 लाख से ऊपर पर कमा लेंगे। वॉरन बफेट भी कहते हैं कि एक आमदनी पर निर्भर ना रहें, निवेश को आमदनी का दूसरा जरिया बनाएं।