Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

क्या कमजोर बाजार में इंटरनेशनल फंड कराएंगे कमाई, डाइवर्सिफिकेशन के लिए ये कितने हैं जरूरी?

जानकारों की राय है कि इस समय ग्लोबल स्लोडाउन के चलते इंटरनेशनल फंड में निवेश से बचें।
अपडेटेड Aug 22, 2019 पर 15:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हर निवेश से कोई न कोई जोखिम जुड़ा होता है। ऐसे में जब भी आप कोई फाइनेंशियल पोर्टफोलियो बनाएं तो हर निवेश से जुड़े जोखिम का आकलन जरूर कर लें। क्या इस जोखिम को आप डाइवर्सिफिकेशन के जरिए कम कर सकते हैं, योर मनी का फोकस आज इसी पर है।


जानकारों की राय है कि इस समय ग्लोबल स्लोडाउन के चलते इंटरनेशनल फंड में निवेश से बचें। भारत की अर्थव्यवस्था मौजूदा हालात में सबसे बेहतर है। दुनिया की एवरेज रियल ग्रोथ 2018 में 3 फीसदी रही। जबकि भारत की जीडीपी 6.8 फीसदी रही। ऐतिहासिक तौर पर घरेलू फंड का प्रदर्शन ग्लोबल फंड से अच्छा रहा है। इंटरनेशनल फंड पर टैक्स डेट फंड के समान ही लगता है। हालांकि लंबी अवधि में इंटरनेशनल फंड पोर्टफोलियो में रख सकते हैं। इंटरनेशनल फंड में भी मार्केट रिस्क का खतरा होता है। इंटरनेशनल फंड को पॉलिटिकल, सोशल, इकोनॉमिक स्थितियों का खतरा होता है। इंटरनेशनल फंड में निवेश करने के लिए निवेशक फंड और ग्लोबल हालात पर नजर बनाए रखें।


सवाल: अब लेते हैं आपके सवाल। चिन्मय वाइंगकर का सवाल है कि लिक्विड फंड पर कितना टैक्स लगता है। क्या लिक्विड और डेट फंड से 3 साल बाद यूनिट रिडीम करने पर टैक्स लगेगा?


जवाब: 3 साल से ज्यादा डेट फंड में रहने पर LTCG टैक्स लगता है। LTCG पर इंडेक्सेशन का फायदा मिलता है। 3 साल से पहले बेचने पर टैक्स स्लैब जितना टैक्स लगता है।


सवाल: HDFC Balance Advantage Fund (DIV) में 6,70,000 रुपये और DSP Equity & Bonds Fund (DIV) में 3,00,000 रुपये का निवेश है। क्या इन फंड्स में निवेश सुरक्षित है? क्या 2-5 साल बाद मुनाफा होगा?


जवाब: बैलेंस्ड या हायब्रिड फंड में निवेश के पीछे का मकसद जानें। बेहतर मुनाफे के लिए लार्ज या मिड कैप में निवेश करें। इक्विटी स्कीम में 5 साल से ज्यादा का नजरिया रखें। इक्विटी में Reliance Large-Cap Fund और Kotak Standard Multi-Cap Fund अच्छे हैं। वहीं डेट में Franklin India Credit Risk Fund और ICICI Pru Credit Risk Fund अच्छे हैं।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।