Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

Emergency Fund के लिए ऐसे करें बचत और रहें किसी भी समस्या से जूझने को तैयार

फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि आपको हमेशा अलग से एक इमरजेंसी फंड में सेविंग्स करते रहना चाहिए
अपडेटेड Dec 06, 2019 पर 08:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आप कब कैसी फाइनेंशियल सिचुएशन में फंस जाएं, कुछ नहीं पता है। कभी कोई मेडिकल इमरजेंसी आ जाए या फिर लॉस ऑफ इनकम हो जाए, ऐसे में आपके पास अलग से कुछ सेविंग्स हो तो आप बड़ी मुसीबत से बच सकते हैं। सेविंग्स रखने से आपको तुरंत आर्थिक मदद तो मिल ही जाती है, इमोशनल सपोर्ट भी रहता है। ऐसे में फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि आपको हमेशा अलग से एक इमरजेंसी फंड में सेविंग्स करते रहना चाहिए, ताकि इमरजेंसी पड़ने पर आपके सामने तुरंत सॉल्यूशन हो और आपको किसी और का मुंह न देखना पड़े।


अपने इमरजेंसी फंड के लिए सेविंग्स करने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए और कुछ खास स्टेप्स उठाने चाहिए, जो हम आपको यहां बता रहे हैं।


समझिए कि आपको कितना सेव करना चाहिए


आमतौर पर सलाह दी जाती है कि आपके इमरजेंसी फंड में तीन से छह महीने तक का खर्च चलाने लायक पैसे होने चाहिए। ऐसे में इसके लिए आपको अपने खर्च को समझना होगा कि आप अपने खर्च के हिसाब से कितना बचा सकते हैं। इसके लिए आपको बजट बनाना होगा।


अपना बजट बनाइए और उसे सख्ती के साथ फॉलो करिए। अपने गैर-जरूरी खर्चों में कटौती करना सीखिए। इससे आपको फंड के लिए पैसे बचाने में मदद मिलेगी। याद रखिए, बूंद-बूंद से घड़ा भरता है। अगर आप छोटी-छोटी से चीज पर भी सोच-समझकर खर्च करेंगे तो भविष्य में चलकर जरूरत के वक्त आपको कमी नहीं होगी।



इमरजेंसी फंड के लिए अलग से सेविंग्स अकाउंट खोलिए


इसके लिए आपको अलग से सेविंग्स अकाउंट खोलना चाहिए। अलग इसलिए ताकि आपके बैंक अकाउंट का लेन-देन इससे अलग रहे। साथ ही इससे आप अपनी इमरजेंसी की सेविंग्स से भी दूर रहेंगे। ऐसा करना आपको साइकोलॉजिकली आपके अकाउंट से दूर रखेगा। अच्छा होगा कि यह अकाउंट आप अपने रेगुलर बैंक से अलग बैंक में खुलवाएं। यह भी सलाह दी जाती है कि इस अकाउंट के लिए एटीएम कार्ड न बनवाएं ताकि अगर आप खुद पर कंट्रोल न भी रख सकें तो भी आपके पास झट से पैसे निकालने का ऑप्शन न हो।


एक्स्ट्रा मनी अपने इमरजेंसी फंड में डालें


कहीं से भी आपको मनी विंडफॉल हो तो जिम्मेदारी समझकर उसे अपने इमरजेंसी फंड में डाल दें। इससे आप अपने अनुमान से ज्यादा बचत कर पाएंगे। यह समझिए कि उस एक्स्ट्रा कैश के बिना भी आपका काम चल रहा था तो फिर अब भी चल जाएगा।


अलग से इनकम के सोर्स ढूंढें


हमेशा कोशिश करें कि आपके पास पैसे कमाने के दूसरे मौके हों। जाहिर है कि यहां लीगल तरीकों की बात हो रही है। एक्स्ट्रा इनकम से आपकी फंडिंग ज्यादा तेजी से बढ़ेगी और अपने गोल तक जल्दी से पहुंचेंगे।


आपका इमरजेंसी फंड, इमरजेंसी फंड है, उसका उसी तरह इस्तेमाल करें


हमेशा इस बात का सख्ती से पालन करिए कि इस फंड के साथ किसी तरह की छूट न लें। इसे अचानक आ गए हालातों के लिए ही बचाकर रखें। हो सकता है कि आप किसी खास चीज को खरीदने का प्लान बना रहे हों, लेकिन भविष्य में उतना पैसा पास में होना आपकी कितनी मदद कर सकता है, यह जरूर सोच लें।


छोटे-छोटे खर्चे बचाकर, बजट के हिसाब से चलकर और थोड़ी डिसिप्लिन से आप जरूर एक मजबूत फंड तैयार कर सकते हैं।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।