Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

पैसे उड़ाने की आदत है या फिर चाहकर भी बचत नहीं हो पाती तो ये तरीके आजमाएं

कुछ कदम उठाने होंगे, जिससे आपकी ओवरस्पेंडिंग पर लगाम लग सके या फिर आप इफेक्टिव तरीके से सेविंग्स कर पाएं
अपडेटेड Dec 05, 2019 पर 10:54  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अकसर हम चाहकर भी सेविंग्स नहीं कर पाते। बचाकर चलते हैं, बजट के हिसाब से पैसे खर्च करते हैं, खर्चों में कटौती करते हैं लेकिन फिर भी सेविंग्स नहीं हो पाती। वहीं कुछ लोग बजट का गणित बिल्कुल भी नहीं समझते। लेकिन ऐसी स्थितियों में अगर आपको बचत करनी हो तो कुछ खास तरीके आजमाने होंगे। कुछ कदम उठाने होंगे, जिससे आपकी ओवरस्पेंडिंग पर लगाम लग सके या फिर आप इफेक्टिव तरीके से सेविंग्स कर पाएं।


सबसे पहले समझें कि आप ज्यादा खर्च कैसे कर देते हैं


आपको सबसे पहले अपने स्पेंडिंग ट्रिगर्स समझने होंगे। ऐसा कब टाइम होता है, जब आप ज्यादा खर्च करते हैं। अपना शॉपिंग मूड पहचानिए। या फिर देखिए कि कहीं आप किसी प्रेशर में आकर तो शॉपिंग नहीं कर रहे। ये सारी बातें अगर आप समझ लें और ऐसी सिचुएशंस को अवॉइड करें तो आप फालतू का खर्च करने से बच जाएंगे।


अपने खर्चे का ट्रैक रखें


आप कहां, किन चीजों पर खर्च कर रहे हैं, आपकी क्या जरूरतें हैं, कहां पैसे बचा सकते हैं, इन सारी चीजों का ट्रैक रखें। जब आपको पता होगा कि आपका पैसा कहां जा रहा है तो आप बेहतर तरीके से मनी मैनेज कर पाएंगे।


अपनी इनकम का बजट बनाना सीखें


आपके पास अपना स्पेंडिंग प्लान होना चाहिए। अपनी इनकम और खर्च का रेशियो निकालिए और उसके हिसाब से अपना बजट बनाइए। हमेशा अपने पिछले महीने के बजट को चेक करें ताकि अगले महीने के बजट के लिए आइडिया मिल सके।


डिजिटल तो ठीक है लेकिन कैश किफायती है


अगर लॉजिक के साथ सोचें तो कार्ड और डिजिटल ट्रांजैक्शन पर निर्भर होने के बजाय कैश पर भरोसा करें तो कई मामलों फिजूलखर्ची नहीं होगी। आपके पास जितना कैश होगा, आप उतना ही खर्च करेंगे। क्रेडिट कार्ड स्वाइप कर आप वो पैसा खर्च करने से बच जाएंगे जो आपके पास है ही नहीं। अच्छा होगा कि आप क्रेडिट कार्ड्स से लगभग छुटकारा ही पा लें। इमरजेंसी के लिए तो ठीक है लेकिन इसे अपना वॉलेट न समझें।


अपने शॉर्ट टर्म फाइनेंशियल गोल सेट करें


अपने लिए शॉर्ट टर्म फाइनेंशियल गोल सेट करने पर आपके अंदर कंट्रोल और डिसिप्लिन आता है। अपना गोल सेट करने पर आप पैसे खर्च करते वक्त यह याद रख पाएंगे कि आप क्यों पैसे बचा रहे हैं, जिससे आप जहां जरूरी न हो, वहां पैसे खर्च करने से बच जाएंगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।