Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

पहला कदम: बैलेंस शीट का विश्लेषण कितना अहम

प्रकाशित Sat, 17, 2018 पर 19:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पहला कदम सीजन-3 की फाइनेंशियल लिटरेसी की मुहिम में इन दिनों बात हो रही है स्टॉक मार्केट में सीधे निवेश की। किसी भी कंपनी के शेयर को खरीदते वक्त उस कंपनी की बैलेंस शीट का एनालिसिस कितना अहम है और उसमें कौन-कौन सी जरूरी बातें हैं जिनका विश्लेषण करना बेहद जरूरी है, यहां आज इसी पर बात हो रही है। इस एपिसोड में बतौर एक्सपर्ट्स हैं एक्सिस सिक्योरिटीज के एमडी और सीईओ अरुण ठुकराल और सीएनबीसी-आवाज के एक्जीक्यूटिव एडिटर अनिल सिंघवी।


इन जानकारों के मुताबिक बैलेंस-शीट कंपनी की हेल्थ बताती है। बैलेंस-शीट साल में एक बार एक तय तारीख को बनती है। बैलेंस-शीट से कंपनी की सेहत का अंदाजा लगता है। बैलेंस-शीट एसेट-लाइबिलिटीज में बंटी होती है। बैलेंस-शीट में ध्यान रखने की बात ये हैं कि कंपनी के एसेट्स और लाइबिलिटी दोनों मैच होनी चाहिए।