Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनीः बकेट लिस्ट प्लानिंग के गुर

बकेट लिस्ट बनाकर प्लानिंग करने से ट्रैक करने में मदद मिलेगी। उस दिशा में कदम उठाना आसान होगा।
अपडेटेड Apr 17, 2019 पर 15:38  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आपके लाइफ की कॉलिंग क्या है, अक्सर हम इस सवाल का जवाब ढुंढते रहते हैं। कई बार, पैसा, एशो आराम भी हमें खुशी नही दे पाता। तो आपकी खुशी क्या है? आर्थिक आजादी अगर आपको मिल जाएं, तो शायद आप अपने सपनों की जिंदगी जीना चाहेंगें या यूं कहं बकेट लिस्ट लाइफ। बकेट लिस्ट यानी आपको अरमानों की लिस्ट। आज आपका फाइनेंशियल गाइड योर मनी, बनेगा आपका बकेट लिस्ट गाइड भी। आपके सपनों को हकीकत में बदलने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ का साथ देंगें वाइजइन्वेस्ट एडवाइजर्स के सीईओ हेमंत रूस्तगी।


बकेट लिस्ट बनाकर प्लानिंग करने से ट्रैक करने में मदद मिलेगी। लिस्ट बनाकर उस दिशा में कदम उठाना आसान होगा। इससे  लक्ष्य और प्राथमिकता तय करने में मदद मिलेगी। वहीं परिवार के लिए तय लक्ष्यों की तरफ कदम बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। अपनी खुशी के लिए भी प्लानिंग जरूरी है। बड़े सपनों को पूरा करने में मदद मिलेगी।


बता दें कि बकेट लिस्ट टू-डू-लिस्ट नहीं है। इसलिए रोजमर्रा के काम टू-डू लिस्ट में होंगे जबकि जरूरी जिम्मेदारियों को बकेट लिस्ट में ना डालें। जरूरी जिम्मेदारियों के लिए अलग फाइनेंशियल प्लान बनाएं। इसके अतिरिक्त बच्चों की पढ़ाई, शादी जैसे लक्ष्य भी जरूरी हैं। घर खरीदने और रिटायरमेंट के लक्ष्य जिम्मेदारी के तौर पर रखें। बकेट लिस्ट में शौक पूरा करने को भी शामिल कर सकते हैं।


अकसर लोगों की लिस्ट में ट्रैवल पहले नंबर पर होता है। पसंदीदा गाड़ी खरीदने से लेकर लेटेस्ट गैजेट लिस्ट में होते हैं। आगे पढ़ाई करना भी लिस्ट में शामिल कर सकते हैं। लिस्ट बनाकर सोचें नहीं, उस दिशा में कदम उठाएं। गौरतलब है कि बकेट लिस्ट बनाने के लिए उम्र का कोई भी बंधन नहीं है। आर्थिक स्थिति के मुताबिक लक्ष्य तय करें। आर्थिक स्थिरता को प्राथमिकता दें, फिर प्लान बनाएं। कुछ नया हासिल करने के लिए बकेट लिस्ट को अपडेट करते रहें। कुछ नया जोड़ने के साथ कुछ लक्ष्य हटाने के लिए भी तैयार रहें।


लक्ष्य तय करते समय ध्यान दें कि अपने लक्ष्य स्पष्ट रखें। लक्ष्य ऐसे रखें जिन्हें पूरा करना मुमकिन हो। निवेश लक्ष्य जैसे इन लक्ष्यों को भी लिखें। बकेट लिस्ट को अपने फाइनेंशियल प्लान में शामिल करें। बकेट लिस्ट के लक्ष्य निवेश का हिस्सा बनाएं। बकेट लिस्ट के लक्ष्यों के लिए अवधि तय करें। अवधि के हिसाब से प्लान और निवेश करना आसान है। एमएफ में कई कैटेगरी से अलग अवधि के लिए प्लानिंग आसान। एमएफ में बेहतर रिटर्न, टैक्स बचत और नकदी की सुविधा है। अपने ट्रैवल लक्ष्य के बजट में महंगाई पर भी ध्यान दें।