Moneycontrol » समाचार » विदेश

Lockdown के बाद Tourism को बढ़ाने के लिए न्यूजीलैंड में 4 दिन काम 3 दिन छुट्टी!

न्युजीलैंड में बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। न्यूजीलैंड की इकोनॉमी में पर्यटन का बड़ा योगदान होता है।
अपडेटेड May 23, 2020 पर 10:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

न्युजीलैंड सरकार ने देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लॉकडाउन के बाद देश में हफ्ते में 4 दिन काम और 3 दिन छुट्टी का पैटर्न लागू करने पर विचार कर रहा है। उनका मानना है कि इससे देश में आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ सकेगी। सरकार में इस पर चर्चा शुरू हो गई है।


पूरे विश्व में फैले हुए कोरोना संक्रमण के कारण विश्व ज्यादातर देशों में लॉकाडाउन घोषित किया गया था। कुछ देशों ने इस लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया है। इसकी वजह से इन देशों में कोरोना नियंत्रण में आ गया है। इसके बाद न्यूजीलैंड सरकार ने देश में 4 दिन काम और 3 दिन की छुट्टी का प्रस्ताव रखा है जिसकी वजह से लंबा वीकेंड मिलने से लोग घूमने-फिरने के बाहर निकलेंगे जिससे पर्यटन उद्योग में तेजी आयेगी जो देश की अर्थव्यवस्था के लिए फायदेमंद होगा।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जैकिंडा अर्डर्न ने देश के नागरिकों को संबोधित करते हुए इस नये पैटर्न की सूचना दी है। न्यूजीलैंड में लॉकडाउन हटने के बाद से दैनिक जीवन सामान्य रूप से शुरू हो गया है। इकोनॉमी को बढ़ाने के लिए तमाम कार्यालय भी शुरू किये जा चुके हैं। हालांकि लॉकडाउन के दौरान अनेक कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम के तरीके से काम किया है।


प्रधानमंत्री अर्डर्न ने स्पष्ट किया कि लॉकडाउन खुलने के बाद जो हफ्ते में 4 दिन काम और 3 दिन छुट्टी का सुझाव है उसका अंतिम फैसला कर्मचारी और कंपनी द्वारा ही लिया जायेगा। हालांकि हर हफ्ते 3 दिनों की छुट्टी मिलेगी तो कर्मचारी बाहर निकलेंगे और खर्च करेंगे, घूमेंगे, टहलेंगे जिससे इकोनॉमी को फायदा जरूर होगा।


बता दें कि न्युजीलैंड में बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। न्यूजीलैंड की इकोनॉमी में पर्यटन का बड़ा योगदान होता है। कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा असर न्यूजीलैंड के पर्यटन उद्योग को हुआ लिहाजा पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार कई उपाय कर रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।