Moneycontrol » समाचार » विदेश

उइगर महिलाओं के सिर का बाल मुड़वा कर बेच रहा चीन, वहां नरसंहार जैसा कुछ हो रहा: अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओब्रायन ने दावा किया कि चीन हेयर प्रोडक्ट बनाने के लिए उइगर महिलाओं के सिर का बाल मुड़ कर बेच रहा है
अपडेटेड Oct 18, 2020 पर 09:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका (America) के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओब्रायन (Robert OBrien) ने शुक्रवार को कहा कि चीन ने शिनजियांग (Xinjiang) क्षेत्र में उइगर मुस्लिम महिलाओं (Uighur Women) के साथ बर्बरता की सारी हदें पार कर दी हैं। उन्होंने दावा किया कि चीन हेयर प्रोडक्ट बनाने के लिए उइगर महिलाओं के सिर का बाल मुड़ कर बेच रहा है। रॉबर्ट ओब्रायन ने कहा कि शिनजियांग में उइगर मुसलमानों के साथ नरसंहार (Genocide) हो रहा है, और अगर यह नरसंहार नहीं है तो वैसा ही कुछ है। एस्पेन इंस्टीट्यूट द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रॉबर्ट ओब्रायन ने उइगर और अन्य अल्पसंख्यक मुस्लिमों के साथ चीन के हो रहे बर्बरता की निंदा की।

रॉबर्ट ओब्रायन ने बताया कि अमेरिका ने चीन के उन अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया है जो उइगर मुसलमानों पर जुल्म करते हैं। हालांकि, अनेरिका ने अभी चीन के इन क्रियाकलापों को आधिकारिक रुप से नरसंहार का नाम नहीं दिया है। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) का अनुमान है कि शिनजियांग प्रांत में 10 लाख से अधिक उइगर मुसलमानों को हिरासत में लिया गया है। इनके खिलाफ बर्बरता की जाती है और इनका नरसंहार हो रहा है। वहीं, चीन ने इनके साथ किसी भी प्रकार के दुर्व्यवहार से इनकार किया है। चीन का कहना है कि इस क्षेत्र के बनाए गए शिविर में अल्पसंख्यकों को आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रोफेशनल ट्रेनिंग दी जा रही है।

जबरन नसबंदी की जा रही

ओब्रायन ने दावा किया कि चीन शिनजियांग में मुसलमानों की जबरन नसबंदी और जबरन गर्भपात कराने के साथ उनका बलात्कार करने के लिए लोगों को भेज रहा है। उन्होंने कहा, अमेरिकी कस्टम विभाग ने शिनजियांग से मनुष्य के बालों से बनाए गए कई हेयर प्रॉडक्ट्स जब्त किए हैं। उन्होंने कहा कि चीन उइगर महिलाओं के सिर मुंडवा रहे हैं और हेयर प्रॉडक्ट्स बना रहे हैं और इन प्रॉडक्ट्स को अमेरिका भेज रहे हैं। यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन ने कहा कि जून में हेयर प्रॉडक्ट्स और उससे जुड़े शिनजियांग के शिपमेंट को बंद कर दिया गया।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।