Moneycontrol » समाचार » विदेश

Coronavirus: चीन ने कहा, Covid-19 पर अमेरिका ने 24 'झूठ' बोले हैं

चीन के फॉरेन मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर 11,000 शब्दों के एक लेख में प्वाइंट में 24 अमेरिकी "झूठ के बारे में बताया गया है
अपडेटेड May 22, 2020 पर 11:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चीन से कोरोनावायरस (Coronavirus) का संक्रमण फैलने के बाद से ही अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप लगातार चीन पर यह आरोप लगाते आ रहे हैं कि चीन ने इस मामले को दुनिया से छिपाया। ट्रंप कई बार यह कह चुके हैं कि चीन इस मामले को संभाल नहीं पाया और सही वक्त पर अगर यह मामले सबके सामने लाता तो दुनिया को इतना नुकसान नहीं उठाना पड़ता। हालांकि अब चीन ने ट्रंप को जवाब देते हुए 24 झूठ की एक लिस्ट बनाई है। CNN के मुताबिक, चीन का कहना है कि ये लिस्ट उन तमाम झूठ की है जो अमेरिकी राजनेताओं ने कोरोनावायरस आउटब्रेक को लेकर बार-बार बोला है। 


चीन के फॉरेन मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर 11,000 शब्दों के एक लेख में प्वाइंट में उन 24 अमेरिकी "झूठ के बारे में बताया गया है।" इस लेख में लिखा गया है कि अमेरिकी लीडर और अमेरिकी मीडिया इन झूठ के जरिए कोरोनावायरस के लिए चीन को बार-बार जिम्मेदार ठहराता रहता है।


यह लेख चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिंहुआ  (https://bit.ly/2XfToRJ) में छपा है। अमेरिका में जैसे-जैसे कोरोनावायरस महामारी का संकट बढ़ा है, चीन के खिलाफ ट्रंप के आरोप भी बढ़े हैं। अमेरिका चीन पर इस बात का भी आरोप लगाता रहा है कि चीन ने इस महामारी से होने वाले मौत की सही आंकड़े जारी नहीं किए हैं।  ट्रंप और सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइक पोंपियो ने बिना सबूत के यह दावा किया है कि यह वायरस चीन के वुहान से पैदा हुआ है। चीन के वुहान में पहली बार दिसंबर में इस वायरस की रिपोर्ट आई थी।


शिंहुआ में छपे इस लेख की शुरुआत अमेरिका के 16वें प्रेसिडेंट अब्राहम लिंकन के कोट के साथ किया गया है। लेख में कहा गया है कि जैसा लिंकन ने कहा था, आप कुछ लोगों को बेवकूफ बना सकते हैं, आप कुछ समय तक सब लोगों को बेवकूफ बना सकते हैं लेकिन आप हर सब सबको बेवकूफ नहीं बना सकते हैं। इसके बाद चीन ने अमेरिका के एक-एक दावे को गलत साबित करते हुए अपने तथ्य दिए हैं।  चीन ने लिखा है कि वह अमेरिकी नेताओं, स्कॉलर्स और मीडिया की गलत जानकारी का शिकार बना है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।