Moneycontrol » समाचार » विदेश

COVID-19 pandemic: ब्रिटिश फाइनेंस मिनिस्टर की चेतावनी, 'देश में बढ़ रहा है मंदी का खतरा'

कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते ब्रिटेन के फाइनेंस मिनिस्टर ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था मंदी की ओर बढ़ रही है
अपडेटेड May 20, 2020 पर 15:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ब्रिटेन (Britain) भी कोरोना वायरस की तबाही से जूझ रहा है। ब्रिटेन के फाइनेंस मिनिस्टर ऋषि सुनक (Rishi Sunak ) ने चेतावनी दी है कि देश की अर्थव्यवस्था मंदी की ओर तेजी से बढ़ रही है। कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते जल्द ही सुधार की संभावना बहुत कम दिख रही है।


भारतीय मूल के ब्रिटेन में फाइनेंस मिनिस्टर ने हाउस ऑफ लॉर्ड्स (House of Lords)  की आर्थिक समिति (Economic Committee) से कहा है कि हर संभव प्रयास के बावजूद और ज्यादा नौकरियों को नुकसान होगा। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी से ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में किये जाने वाले बदलावों को सुनक ही देख रहे हैं।


सुनक से समिति से कहा कि इस लॉकडाउन का हमारी अर्थव्यवस्था पर काफी अहम प्रभाव पड़ेगा। हम बड़ी मंदी का सामाना कर सकते हैं, इस तरह की मंदी हमने पहले कभी नहीं देखी और इसका नौकरी पर भी असर होगा। उन्होंने आगे कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए हमने कई कदम उठाए हैं। लेकिन फिर भी हम नौकरियों और बिजनेस को नहीं बचा पा रहे हैं। आंकड़ों के पता चलता है कि आने वाले दिनों में हमें कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।


गौरतलब है कि ब्रिटेन में कोरना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस लॉकडाउन को पूरी तरह से ढील देने में काफी समय लगेगा। लिहाजा अर्थव्यवस्था में सुधार आने में अभी काफी लंबा समय लगेगा।


ब्रिटेन के फाइनेंस मिनिस्टर की यह चेतावनी ऐसे समय में आई है जब राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (Office for National Statistics –ONS) ने आंकड़े जारी कर बताया कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान देश में 856,500 लोगों की नौकरियां छिन गई हैं। अप्रैल महीने में बेरोजगारी भत्ते (unemployment benefits) का दावा करने वालों की संख्या बढ़कर 21 लाख तक पहुंच गई।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें