Moneycontrol » समाचार » विदेश

मेहुल चोकसी को झटका, डोमिनिका हाई कोर्ट ने जमानात देने से किया इनकार, कहा- भागने का है खतरा

चोकसी ने आरोप लगाया था कि उसे भारतीय और एंटीगन पुलिस अधिकारियों ने उसकी दोस्त बारबरा जराबिक के साथ 23 मई को एंटिगा से अगवा कर लिया था
अपडेटेड Jun 12, 2021 पर 14:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी (PNB Scam) केस के आरोपों में भारत में वॉन्टेड भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी (Mehul choksi) को डोमिनिका की हाई कोर्ट ने जमानात देने से इनकार कर दिया। हाईकोर्ट ने इस आधार पर जमानत देने से इनकार कर दिया क्योंकि उसके भागने का जोखिम है। ऑनलाइन रिपोर्ट के मुताबिक, डोमिनिका हाई कोर्ट ने शुक्रवार को चोकसी को जमानत देने से इनकार कर दिया, क्योंकि जस्टिस विनांटे एड्रियन-रॉबर्ट्स ने माना कि जमानत के बाद चोकसी देश छोड़ कर भाग सकता है।


चोकसी ने आरोप लगाया था कि उसे भारतीय और एंटीगन पुलिस अधिकारियों ने उसकी दोस्त बारबरा जराबिक के साथ 23 मई को एंटिगा से अगवा कर लिया था। उसके मुताबिक, बारबरा भी इस पूरी साजिश का हिस्सा थी।


मिस्ट्री गर्ल ने मेहुल चोकसी के बारे में किए कई बड़े खुलासे, किडनैपिंग में शामिल होने से इनकार


रिपोर्ट में कहा गया है कि चोकसी के वकीलों ने तर्क दिया था कि एक CARICOM (कैरेबियन समुदाय) के नागरिक के रूप में, वह EC $ 5,000 के जुर्माने के साथ जमानत के हकदार हैं, क्योंकि उनका कथित अपराध जमानती है। उन्होंने कोर्ट से नकद जमानत देने की मांग की। वकीलों ने ये भी कहा कि उनका मुवक्किल अस्वस्थ है और वह देश छोड़कर नहीं भागेगा।


हालांकि, राज्य के वकील लेनोक्स लॉरेंस ने चोकसी की जमानत का विरोध किया, क्योंकि उसके भागने का जोखिम था और उसके खिलाफ इंटरपोल रेड नोटिस जारी किया गया था। लॉरेंस ने कहा कि चोकसी की मेडिकल कंडीशन कोई मुद्दा नहीं है, क्योंकि उन्हें जरूरी मेडिकल सहायता मिली है।


पूर्वी कैरेबियाई सुप्रीम कोर्ट (ECSC) में चोकसी की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया। याचिका कथित यातना के बारे में कहा गया। साथ ही चोकसी के एंटीगा में वापस लौटने की मांग की, जहां की उसके पास नागरिकता है।


डोमिनिका हाई कोर्ट में भारत ने दिए दो हलफनामे

मामले से परिचित लोगों ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर कहा कि भारत सरकार ने डोमिनिका हाई कोर्ट में मेहुल चोकसी की भारतीय नागरिकता और PNB पर उसके द्वारा की गई धोखाधड़ी की गंभीर प्रकृति को साबित करते हुए दो हलफनामे दायर किए थे।


भारत में, मेहुल चोकसी और उसका भतीजा नीरव मोदी कथित तौर पर लेटर ऑफ अंडरटेकिंग का इस्तेमाल करके पंजाब नेशनल बैंक से 13,500 करोड़ रुपए निकालने के मामले में फरार हैं। मोदी और चोकसी दोनों वर्तमान में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की जांच का सामना कर रहे हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।