Moneycontrol » समाचार » विदेश

हॉन्ग कॉन्ग प्रोटेस्ट के दौरान पुलिस स्टेशन में अंडे फेंकने के आरोप में शख्स को 21 महीने की जेल

पिछले साल 21 जुलाई को हॉन्ग कॉन्ग में विरोध-प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी ने एक थाने में अंडा फेंका था
अपडेटेड Nov 28, 2020 पर 08:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

एक विवादास्पद फैसले के तहत पिछले साल हॉन्ग कॉन्ग में विरोध-प्रदर्शनों (Hong Kong Protests) के दौरान पुलिस स्टेशन में अंडे फेंकने के आरोप में हांगकांग के एक शख्स को 21 महीने के लिए जेल भेज दिया गया है। पिछले साल 21 जुलाई को हॉन्ग कॉन्ग में विरोध-प्रदर्शन के दौरान Pun Ho-chiu नामक 31 वर्षीय प्रदर्शनकारी ने एक थाने में अंडा फेंका था।


स्टेट ब्रॉडकास्टर्स आरटीएचके (RTHK) की एक रिपोर्ट के अनुसार, Pun Ho-chiu पर नौ अलग-अलग आरोप लगाया गया है, जिसमें आपराधिक क्षति (criminal damage), पुलिस पर हमला और अवैध असेंबली (illegal assembly) शामिल थी। Pun Ho-chiu को एक मशहूर चित्रकार के रूप में जाना जाता था और अदालत के अनुसार, उन्होंने विरोध प्रदर्शनों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।


फैसला सुनाते हुए, मजिस्ट्रेट Winnie Lau ने कहा कि हालांकि अंडा सामूहिक विनाश का हथियार (weapon of mass destruction) नहीं था, फिर भी यह अदालत का कर्तव्य था कि वे अपने कर्तव्यों को पूरा करें। जज ने यह भी कहा कि अंडा फेंकने से न केवल पुलिस मुख्यालय (police headquarters in Hong Kong) में खलबली मच गई बल्कि एक एस्केलेटर को भी नुकसान पहुंचा। हालांकि विरोध के दौरान किसी व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचाया गया।


बता दें कि चीन की नेशनल पीपल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने मई में सर्वसम्मति से हांगकांग के लिए नेशनल सिक्योरिटी लॉ को पारित किया था। इस कानून के पारित होने से हांगकांग के अधिकारों, स्वायत्तता में कटौती हो गई है। इस कानून में जेल में अधिकतम सजा उम्रकैद है। जानकारों का कहना है कि नेशनल सिक्योरिटी लॉ के पास होने से राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर हॉन्ग कॉन्ग की आजादी अब खत्म हो गई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।