Moneycontrol » समाचार » विदेश

कुवैत सरकार ने पास किया ये विधेयक तो लाखों भारतीयों को छोड़ना होगा कुवैत

कुवैत सरकार विदेशों से रोजगार के लिए आने वाले कर्मचारियों के लिए एक विधेयक मंजूर करने की तैयारी कर रही है।
अपडेटेड Jul 07, 2020 पर 17:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कुवैत में काम करने वाले भारतीयों को बड़ा झटका लगने की उम्मीद है। कुवैत में काम करने वालें भारतीयों पर बेरोजगारी का संकट मंडरा रहा है। कुवैत सरकार विदेशों से रोजगार के लिए आने वाले कर्मचारियों के लिए एक विधेयक मंजूर करने की तैयारी कर रही है। इस विधेयक के अनुसार विदेशी मजदूरों का एक कोटा बनाया जायेगा। यदि ऐसा हुआ तो इसका सबसे बड़ा नुकसान भारतीय मजदूरों का उठाना पड़ सकता है।


इस विधेयक के अनुसार हर देश से आने वाले कर्मचारियों की संख्या निर्धारित की जायेगी। कुवैत की जनसंख्या करीब 48 लाख है उसमें भी भारतीयों की संख्या 14 लाख है जो रोजगार के कारण कुवैत में रह रहे हैं। कुवैत में आने वाले विदेशी कर्मचारी तेल कंपनियों में मजदूर, इलेक्ट्रिशियन से लेकर इंजीनियर के रूप में कार्यरत हैं।


नये विधेयक के अनुसार इसके बाद सिर्फ कुवैत की जनसंख्या के अनुपात में विदेशी नागरिकों को कुवैत में रहने की परमिशन होगी। जिससे करीब 7 से 8 लाख भारतीयों को वहां से बाहर निकलना होगा। भारतीयों के बाद कुवैत में रहने वाले विदेशों लोगों में सबसे ज्यादा संख्या इजिप्ट की है। भारतीय दूतावास की इस मुद्दे पर नजर बनी हुई है हालांकि अब तक भारत की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक कुवैत में नौकरी करनेवाले भारतीयों के कारण भारत को बड़े पैमाने पर विदेशी मुद्रा मिलती है। वैसे भी कुवैत में भारतीयों को शालीन, मेहनती और कानून का पालने करनेवाला माना जाता है। लेकिन कुवैत सरकार अपने देश में कामों के लिए विदेशी नागरिकों पर अपनी निर्भरता घटाना चाह रही है जिसके लिए ये विधेयक लाने की तैयारी की जा रही है ऐसा बताया जा रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।