Moneycontrol » समाचार » विदेश

Lebanon: बेरुत बम धमाकों को लेकर पीएम समेत पूरी सरकार का इस्तीफा, राष्ट्रपति ने किया स्वीकार

बेरुत बम ब्लास्ट में हुए प्रदर्शन के चलते सरकार को झुकना पड़ा है, लोगों का आरोप है कि सरकारी तंत्र में भ्रष्टाचार और लापरवाही की वजह से ये धमाका हुआ है
अपडेटेड Aug 11, 2020 पर 13:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लेबनान (Lebanon) की राजधानी बेरूत (Beirut) में पिछले हफ्ते हुए धमाके को लेकर मंत्रिमंडल ने इस्तीफा दे दिया है। लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब (Hassan Diab) भ्रष्टाचार और लापरवाही के आरोप लगे हैं। जिसकी वजह से देश की राजधानी में विस्फोट हुआ है। देश के राष्ट्रपति मिशेल एउन (Michel Aoun) ने दिआब के इस्तीफे को स्वीकार कर लिया है और सरकार से एक नई कैबिनेट के गठन तक पद पर बने रहने के लिए कहा है।


बेरुत के पोर्ट में हुए भारी विस्फोट के चलते लोगों ने सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। जिसकी वजह से सरकार को झुकना पड़ा और पूरी सरकार को इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा। नए आंकड़ों के मुताबिक, अब तक इस विस्फोट में 200 लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं 600 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। देश के प्रधानमंत्री दिआब ने कहा कि मैं आज इस सरकार के इस्तीफे की घोषणा करता हूं। भगवान लेबनान की रक्षा करे (May God protect Lebanon) इस वाक्य को उन्होंने 3 बार दोहराया।


बता दें कि 4 अगस्त को बेरूत पोर्ट पर हुए इस धमाके ने पूरे पोर्ट को तबाह कर दिया है। इसके बाद पूरे देश में सरकार और सत्ताधारी वर्ग में प्रदर्शनों का सिलसिला शुरू हो गया है। लेबनान के लोगों का आरोप है कि सरकारी तंत्र में भ्रष्टाचार और लापरवाही की वजह से ये धमाका हुआ है। माना जाता है कि भंडार में रखे गए 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में आग लगने से विस्फोट हुआ। विस्फोट से 10 अरब डॉलर से लेकर 15 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका व्यक्त की गई है और धमाके के बाद करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।