Moneycontrol » समाचार » विदेश

Mouthwash से कम हो सकता है कोरोना का खतरा, घट सकते हैं मुंह और गले में मौजूद वायरल कण

एक अध्ययन का दावा है कोरोना वायरस को बाजार में उपलब्ध माउथवॉश के उपयोग से निष्क्रिय किया जा सकता है।
अपडेटेड Aug 12, 2020 पर 08:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

एक अध्ययन का दावा है कोरोना वायरस (Corona Virus)  को बाजार में उपलब्ध माउथवॉश (Mouthwash) के उपयोग से निष्क्रिय किया जा सकता है। स्टडी के के मुताबिक इन उत्पादों से गरारा-कुल्ला करने से मुंह और गले में मौजूद वायरल कण घट सकते हैं और कुछ समय के लिए कोविड-19 के प्रसार के जोखिम को कम कर सकते हैं।


हालांकि स्टडी में आगाह किया गया है कि माउथवॉश कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए उपयुक्त नहीं हैं और न ही ये कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाते हैं। जर्मनी के Ruhr University Bochum के अनुसंधानकर्ताओं समेत अन्य ने कहा कि कोविड-19 के कुछ मरीजों के गले और मुंह में वायरस के कण या वायरल लोड की अत्यधिक मात्रा देखने को मिल सकती है।


अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि वायरस का संक्रमण संक्रमित व्यक्ति के खांसने, छींकने या बात करने के दौरान उसकी सांस की बूंदों से सीधे संपर्क में आने से और बाद में उसका संपर्क स्वस्थ व्यक्ति के नाक, मुंह या आंख की झिल्लियों के साथ होने से फैलता है।


उनका मानना है कि स्टडी के नतीजे संक्रमण के इस तरीके के जोखिम को घटाने में मदद कर सकते हैं और संभावित रूप से डेंटल ट्रिटमेंट के लिए प्रोटोकॉल विकसित करने में सहायक हो सकते हैं। जर्नल ऑफ इंफेक्शस डिसेजेस में प्रकाशित स्टडी में कहा गया है इसमें उस विचार का समर्थन किया जाता है कि गरारा-कुल्ला करने से लार में वायरस के कण घटते हैं और इससे सॉर्स-सीओवी-2 का संक्रमण कम हो सकता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।