Moneycontrol » समाचार » विदेश

रिचर्ड ब्रैनसन के साथ अंतरिक्ष जा रही हैं भारतीय मूल की सिरिशा बंदला, जानिए कौन हैं सिरिशा

सिरिशा ने परड्यू यूनिवर्सिटी एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की है और फ्लाइट में उनकी भूमिका रिसर्चर की होगी
अपडेटेड Jul 12, 2021 पर 00:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ब्रिटेन के अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन की कंपनी Virgin Galatic का SpaceShipTwo Unity जब अंतरिक्ष के किनारे की अपनी यात्रा की शुरुआत करेगा तो बहुत से लोग इतिहास बनाएंगे। इनमें परड्यू यूनिवर्सिटी में पढ़ी 34 वर्षीय एयरोनॉटिकल इंजीनियर सिरिशा बंदला भी शामिल होंगी।


सिरिशा अंतरिक्ष में जाने वाली तीसरी भारतीय मूल की महिला होंगी। इससे पहले कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स यह उपलब्धि हासिल कर चुकी हैं।


इस साल 69 बार बढ़े फ्यूल के दाम, सरकार को 4.91 लाख करोड़ रुपए की आमदनी: कांग्रेस


आंध्र प्रदेश के गुंटूर में जन्मी सिरिशा और अमेरिका में टेक्सास के ह्युस्टन में पली सिरिशा के साथ अंतरिक्ष यात्रा में रिचर्ड ब्रैनसन और पांच अन्य लोग भी होंगे।


सिरिशा ने कहा, "मैं यूनिटी के शानदार क्रू और ऐसी कंपनी का हिस्सा बनकर बहुत सम्मानित महसूस कर रही हूं जिसका मिशन सभी के लिए अंतरिक्ष को उपलब्ध कराना है।" उन्होंने बताया कि यह विभिन्न पृष्ठभूमियों, विभिन्न क्षेत्रों और विभिन्न समुदायों को अंतरिक्ष में ले जाने का एक बहुत अच्छा मौका है।


 


भारत से अमेरिका पहुंचने के बाद सिरिशा ने ह्युस्टन में नासा के जॉनसन स्पेस सेंटर के निकट बचपन बिताया है और वह हमेशा से एक एस्ट्रोनॉट बनना चाहती थी।

 


हालांकि, आंखों की खराब रोशनी के कारण वह पायलट या एस्ट्रोनॉट बनने का सपना पूरा नहीं कर सकी। उन्होंने परड्यू यूनिवर्सिटी से एयरनॉटिकल इंजीनियरिंग की है।


इस फ्लाइट में सिरिशा की भूमिका रिसर्चर की होगी और वह मानवीय अनुभव से जुड़ी रिसर्च करेंगी। इसके लिए फ्लोरिडी यूनिवर्सिटी के एक एक्सपेरिमेंट का इस्तेमाल किया जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।