Moneycontrol » समाचार » विदेश

China के 19 Fighter Jets ने ताइवान की सीमा में की घुसपैठ, अब Taiwan के दिखाई ताकत, उड़ाए F-16 लड़ाकू विमान

ताइवान के F-16 लड़ाकू विमान कल शाम से ही लगातार उड़ान भर रहे हैं और संवेदनशील इलाकों में गश्त लगा रहे हैं, वे पूरी आक्रामता से चीन को जवाब देने के लिए तैयार हैं
अपडेटेड Sep 20, 2020 पर 14:50  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ताइवान (Taiwan) और अमेरिका (America) की दोस्ती से चिढ़े चीन (China) ने ताइवान पर कब्जा करने की धमकी दी है। चीन के 19 फाइटर जेट्स (Fighter Jets) शुक्रवार शाम ताइवान के हवाई क्षेत्र में घुसे और कुछ मिनट तक यहां उड़ान भरने के बाद लौट गए। जैसे ही चीनी फाइटर जेट्स ताइवान की सीमा में पहुंचे, वैसे ही ताइवान ने अपने एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को एक्टिव कर और हाई अलर्ट पर रख लिया। ताइवान की तरफ से जवाबी कार्रवाई का शक होने पर चीनी एयरक्राफ्ट्स फौरन लौट गए। इस बीच ताइवान ने चीन के किसी भी हमले का करार जवाब देने के लिए अपना तैयारी शुरू कर दी है।

ताइवान के F-16 लड़ाकू विमान कल शाम से ही लगातार उड़ान भर रहे हैं और संवेदनशील इलाकों में गश्त लगा रहे हैं। वे अब पूरी आक्रामता से चीन को जवाब देने के लिए तैयार हैं। चीनी विमानों को मार गिराने के लिए ताइवान ने अपने एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को भी हाई अलर्ट पर रखा है। ताइवान के रक्षा मंत्री ने कहा कि चीन इस क्षेत्र में लगातार उकसावे की कार्रवाई कर रहा है, जिससे पूरे क्षेत्र में अशांति फैलने की आशंका है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को 19 चीनी फाइटर जेट हमारी सीमा में घुसे गए। ताइवान ने चीन को चेतावनी दि कि उसे अपनी हरकतों का अंजाम भुगतना होगा। घुसपैठ होने पर ताइवान चुप नहीं बैठेगा और जवाबी कार्रवाई करेगा।

अमेरिका और ताइवान को वॉर्निंग

ताइवान की सीमा में घुसपैठ करने के बाद चीन ने कहा कि यह हमारी तरफ से अमेरिका और ताइवान को वॉर्निंग है। चीन के फाइटर जेट्स ने जब ताइवान की सीमा में घुसपैठ की उस समय अमेरिकी विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी कीथ क्रैच (Keith Krach) ताइवान में ही मौदूद थे। उनके इस दौरे से बौखलाए चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि शुक्रवार को लड़ाकू विमानों का ड्रिल चेतावनी देने के लिए नहीं था, बल्कि ताइवान पर कब्जे का रिहर्सल था। ताइवान और अमेरिका स्थिति का गलत आकलन ना करें यह ना मानें कि यह अभ्यास दिखावा है। यदि वे उकसाते रहे तो युद्ध होना तय है।

ताइवान को अमेरिका का साथ

अमेरिका खुलकर ताइवान के साथ खड़ा हो गया है। दोनों देशों के बीच अरबों डॉलर की डिफेंस डील भी होने वाली है। कुछ महीनों में चीन ने ताइवान की हवाई और समुद्री सीमा का कई बार उल्लंघन किया है। लेकिन, पहली बार इतनी बड़ी संख्या में उसके फाइटर जेट्स ताइवान की सीमा में घुसे हैं। आपको बता दें कि अमेरिका ने पिछले हफ्ते अपना गाइडेड मिसाइल डेस्ट्रॉयर ताइवान की खाड़ी में तैनात किया था। खास बात यह है कि अमेरिका ने पहले इसका ऐलान नहीं किया था। लेकिन, दो हफ्तों में अमेरिका ने दूसरी बार किसी डेस्ट्रॉयर को साउथ चाइना सी (South China Sea) में भेजा था। अमेरिका के इस कदम से साफ हो जाता है कि वो ताइवान की हर मुमकिन मदद करने के लिए तैयार है। चीन इसी के कारण बौखलाया हुआ है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।