Moneycontrol » समाचार » विदेश

US Drone Strike ISIS-K: जलालाबाद के लोगों ने देर रात सुनी कई धमाकों की आवाज, काबुल में हाई अलर्ट

पेंटागन ने कहा कि ड्रोन हमला अफगानिस्तान के नंगहार प्रांत में हुआ। हमने टारगेट को मार गिराया
अपडेटेड Aug 29, 2021 पर 15:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिकी सेना ने शुक्रवार को कहा कि उसने इस्लामिक स्टेट-खोरासन के एक "प्लानर" के खिलाफ एक ड्रोन हमला किया है। ये वही आतंकी संगठन है, जिसने काबुल हवाई अड्डे पर घातक आत्मघाती बम विस्फोट की जिम्मेदारी ली थी। सेंट्रल कमान के कैप्टन बिल अर्बन ने कहा, "ड्रोन हमला अफगानिस्तान के नंगहार प्रांत में हुआ। शुरुआती संकेत हैं कि हमने टारगेट को मार गिराया।" उन्होंने एक बयान में कहा, "हमें किसी नागरिक के हताहत होने की जानकारी नहीं है।" अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आने के बाद दूसरे देशों के नागरिकों सहित अफगान नागरिक भी देश छोड़ कर भागने में लगे हैं।


अफगानिस्तान के इस्लामिक स्टेट सहयोगी ISIS-K की तरफ से किए गए गुरुवार के आत्मघाती विस्फोट में मारे गए 92 लोगों में से 13 अमेरिकी सर्विस मेंबर्स थे। ये हमला पिछले एक दशक में अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों के लिए सबसे घातक था।


अमेरिकी सेना ने एक बयान में रात में किए गए ड्रोन हमले का जिक्र करते हुए कहा, "शुरुआती संकेत हैं कि हमने टारगेट को मार गिराया। हमारा अनुमान है कि कोई आम नागरिक हताहत नहीं हुआ है।"


रॉयटर्स के मुताबिक, नंगरहार की राजधानी जलालाबाद शहर के निवासियों ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार आधी रात के आसपास एक हवाई हमले से कई विस्फोटों की आवाज सुनी, हालांकि, ये साफ नहीं था कि विस्फोट अमेरिकी ड्रोन के कारण हुए थे।


व्हाइट हाउस ने कहा कि अगले कुछ दिन अमेरिकी निकासी अभियान (Evacuation Operation) के सबसे खतरनाक होने की संभावना है, पेंटागन ने कहा कि पिछले दो हफ्तों में अफगानिस्तान से लगभग 111,000 लोगों को निकाला गया है।


पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि अमेरिका का मानना ​​​​है कि इसके बमबारी के बाद भी हवाई अड्डे पर सुरक्षा को लेकर खतरा बढ़ गया है। उन्होंने मीडिया से कहा, "हम आगे के लिए तैयार हैं और इन खतरों की बेदह ही करीब से निगरानी कर रहे हैं।"


रॉयटर्स ने बताया कि बाइडेन ने इससे पहले पेंटागन को योजना बनाने का आदेश दिया था कि इस्लामिक स्टेट से जुड़े ISIS-K पर कैसे हमला किया जाए, जिसने गुरुवार की बमबारी की जिम्मेदारी ली थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।