Moneycontrol » समाचार » विदेश

चीन के खिलाफ अमेरिका ने 18-प्वाइंट प्लान बनाया, जानिए भारत को क्या जिम्मेदारी मिली

चीन को सबक सिखाने के लिए भारत, ताइवान और वियतनाम के साथ अमेरिका मिलिट्री साझेदारी बढ़ाना चाहता है
अपडेटेड May 16, 2020 पर 10:18  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चीन के वुहान से कोरोनावायरस का कहर जब से शुरू हुआ था तब से लगातार अमेरिका चीन से अपनी नाराजगी जताता रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप भी कई बार कह चुके हैं कि चीन इस महामारी को रोकने में कामयाब नहीं हुआ है। और अगल वो इसे रोक लेता तो पूरी दुनिया इसमें नहीं फंसती। अमेरिका ने चीन पर यह भी आरोप लगाया है कि उसने इस महमारी को दबाने की काफी कोशिश की।


चीन को इसके लिए जिम्मेदार ठहराने को लेकर अमेरिकी सीनेटर ने 18 प्वाइंट वाला प्लान बनाया है। अमेरिका के इस प्लान में भारत को भी शामिल किया गया है। भारत के साथ अमेरिका मिलिट्री साझेदारी बढ़ाना चाहता है ताकि चीन के "झूठ, धोखा और कवर अप" के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। अमेरिका का मानना है कि चीन की इस हरकत की वजह से दुनिया भर में वायरस का संक्रमण बढ़ गया है। 


चीन के खिलाफ जो सुझाव मिले हैं उसमें वहां से कंपनियों को हटाना और चीन के खिलाफ भारत, ताइवान और वियतनाम के साथ मिलिट्री साझेदारी करना है।


गुरुवार को 18 प्वाइंट का प्लान जारी करते हुए अमेरिकी सीनेटर थॉम टिलिस ने कहा,  "चीन की सरकार ने इस महामारी पर पर्दा डालने की पूरी कोशिश जिससे यह वैश्विक महामारी बन गया है जिससे कई अमेरिकियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कई इलाकों में अमेरिकी नागरियों को लेबर कैंप में बंद करना पड़ रहा है। अमेरिकी तकनीक और नौकरियां चीन चुरा रहा है और हमारी संप्रभुता को चुनौती दे रहा है।"


उन्होंने कहा, "अमेरिका और दुनिया के लिए यह वेकअप कॉल है। मैं चाहता हूं कि कोरोनावायरस के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया जाए। अमेरिकी इकोनॉमी, पब्लिक हेल्थ और देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए चीन पर पाबंदी लगानी चाहिए।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।