Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

Christmas to Christmas: 36 ऐसे शेयर जिन्होंने दिया 900% तक का रिटर्न, क्या हैं आपके पास‍!

पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक सेंसेक्स और निफ्टी में 13 फीसदी की बढ़त दिखाई दी है
अपडेटेड Dec 26, 2020 पर 14:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक बाजार ने कई प्रतिमान बनाए हैं। इस दौरान ये अपने मल्टी ईयर लो तक भी पहुंच गया और वहां से फिर छलांग मारते हुए नए रिकॉर्ड हाई पर भी पहुंचा। इस सारे घटना क्रम के बीच बेंच मार्क सूचकांक ने डबल डिजिट रिटर्न दिया है। ब्रॉडर मार्केट ने भी 2018-19 की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है और साल के अंत में बुल पार्टी में बढ़-चढ़ कर भाग लिया है। इसने फ्रंटलाइन, स्टॉक्स की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है।


पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक सेंसेक्स और निफ्टी में 13 फीसदी की बढ़त दिखाई दी है। वहीं BSE मिड कैप और स्मॉल कैप इंडेक्स इस अवधि में क्रमश: 19 फीसदी और 32 फीसदी भागे हैं। शेयर खान के संजीव होता ने मनी कंट्रोल से कहा कि साल 2020 कोविड-19 महामारी के चलते स्टॉक मार्केट के लिए एक असामान्य साल रहा है। इस साल हमें निचले और ऊपरी दोनों छोरों पर बड़ी हलचल दिखी। इस सबका का सारा श्रेय ग्लोबल लिक्विडिटी में आए उछाल और कोविड-19 महामारी से मार खाई दुनिया की बड़ी इकोनॉमी को संभालने के लिए सरकारों द्वारा उठाए गए कदमों को जाता है। इसके साथ ही पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक FII ने भी एक 1.5 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है।


लॉकडाउन के नियमों में नरमी, तमाम आकंड़ों से इकोनॉमी में मिल रहे सुधार के संकेत, उम्मीद से बेहतर सितंबर तिमाही के नतीजों के चलते अगले साल मजबूत ग्रोथ की उम्मीद, कोरोना वैक्सीन के मोर्चे पर मिल रहे पॉजिटिव संकेत, सरकार द्वारा लाए जा रहे राहत पैकजों, आत्मनिर्भर भारत पर बढ़ते फोकस, सस्ती ब्याज दर और RBI की इकोनॉमी को सपोर्ट करने वाली नीतियों ने बाजार को सेंटीमेंट को बड़ा बूस्ट दिया है।


इन सभी का असर शेयरों और सेक्टरों पर देखने को मिल रहा है। ऑयल एंड गैस और बैंक सेक्टर को छोड़कर इकोनॉमी के अधिकांश सेक्टरों ने बाजार की हालिया रैली में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है। पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक BSE 500 इंडेक्स में शामिल करीब 65 फीसदी स्टॉक पॉजिटिव नोट के साथ बंद हुए हैं इनमें से 50 फीसदी से ज्यादा स्टॉक्स ने डबल डिजिट की ग्रोथ दिखाई है।


इस एक साल की अवधि में 36 स्टॉक ऐसे रहे हैं जो मल्टी बैगर साबित हुए हैं। इनमें 100 से 900 फीसदी तक की बढ़त दर्ज की गई है। इनमें से अधिकांश स्टॉक मिडकैप और स्मॉल कैप से संबंधित हैं। इन मल्टीबैगर शेयरों में Tanla Platforms, Adani Green Energy, Aarti Drugs, Laurus Labs, IOL Chemicals, Alkyl Amines Chemicals, Birlasoft, Dixon Technologies, IndiaMART InterMESH, Granules India, Navin Fluorine International, Affle India, JB Chemicals, Adani Gas, Adani Enterprises, Amber Enterprises, APL Apollo Tubes, Tata Elxsi, Divis Laboratories, Mindtree, L&T Infotech और Escorts शामिल हैं। इनमें से ज्यादातर शेयर हेल्थ केयर टेक्नोलॉजी और स्पेशियलिटी केमिकल्स जैसे सेक्टरों से संबंधित हैं जिनको कोविड-19 महामारी से फायदा हुआ है। हेल्थ पर बढ़ते फोकस और और महामारी के बाद बेहतर डील की संभावनाओं ने इन सेक्टर्स को जोरदार बूस्ट दिया है।


पिछले क्रिसमस से अब तक 50 फीसदी से ज्यादा रिटर्न देने वाले BSE 500 इंडेक्स के अगले 75 शेयरों में Advanced Enzyme Technologies, Alembic Pharmaceuticals, Aurobindo Pharma, Syngene International, Jindal Stainless,Cadila Healthcare, Ipca Laboratories, Bajaj Electricals, Info Edge India, Mphasis, Apollo Hospitals,Jubilant Foodworks, Infosys, Gujarat Gas, Biocon, HCL Technologies,IRCTC,Muthoot Finance,IRB Infrastructure,Tata Chemicals, PI Industries, Wipro और MCX शामिल है।


दूसरी तरफ अधिकांश PSU और बैंक NBFC होटल और रिटेल स्टॉक अभी भी रेड जोन में हैं। Future Retail, GE Power India, Punjab National Bank, Union Bank of India, Raymond, Canara Bank, Chalet Hotels, IndusInd Bank, Bank Of Baroda, Lemon Tree Hotels, Shoppers Stop, Edelweiss Financial Services, RBL Bank, Indiabulls Housing Finance, Jagran Prakashan, DCB Bank,Coal India और Ujjivan Small Finance Bank ऐसे 27 शेयरों में हैं जिनमें पिछले क्रिसमस से इस क्रिसमस तक 30 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है।


बाजार दिग्गजों का मानना है कि इस क्रिसमस से अगले क्रिसमस तक कंपनियों के नतीजों और इकोनॉमी में मजबूत रिकवरी देखने को मिल सकती है जिसका असर बाजार पर भी पड़ेगा और हमको बाजार में एक और डबल डिजिट ग्रोथ देखने को मिल सकती है।  बाजार में बीच-बीच में छोटे-मोटे करेक्शनआते रहेंगे जो बाजार के लिए बेहतर साबित होंगे। इक्विटी, निवेश विकल्प के तौर में लंबी अवधि के लिए अच्छा निवेश विकल्प बना रहेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।