Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

Corona impact: बाजार के लिए भयानक दौर, जानिए क्या है दिग्गजों की राय

दुनिया भर में कोरोना का कहर जारी है। यूरोप, एशिया और अमेरिका सभी के बाजार कोरोना से सहम गए हैं।
अपडेटेड Mar 14, 2020 पर 12:38  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दुनिया भर में कोरोना का कहर जारी है। यूरोप, एशिया और अमेरिका सभी के बाजार कोरोना से सहम गए हैं। आज निफ्टी में खुलने के 5 मिनट बाद ही लोअर सर्किट लग गया। हालांकि सर्किट खुलने के बाद बाजार में शानदार रिकवरी देखने को मिल रही है। इस स्थिति में बाजार में क्या करना चाहिए और आगे क्या उम्मीद हैं इस पर जानकारों का क्या कहना है आइए जानते हैं।


MOFSL के रामदेव अग्रवाल का कहना है कि बाजार में खरीदार न होने से गिरावट बढ़ी है। बाजार में निवेश करने का ये सही मौका है। हो सकता है बाजार ये मौका दोबारा न दे। अच्छी कंपनियों में पैसे लगाने से फायदा तय है। SIP शुरू करने का ये सही समय है। गिरावट में SIP शुरू करने से बड़ा फायदा होगा। बाजार को देखकर बहुत चिंता न करें। धैर्य रखने से आगे मोटा मुनाफा मिलेगा।  


IIFL के निर्मल जैन का कहना है कि निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं है। हालांकि RBI को दरें घटाने की जरूरत है। वहीं शंकर शर्मा का कहना है कि बाजार के हालात पहले से ही खराब हैं कोरोना तो एक बहाना है। 2 साल से भारत की स्थिति गंभीर रही है।कुछ चुनिंदा शेयरों की वजह से बाजार चढ़ा था। 
  
मार्केट एक्सपर्ट वल्लभ भंसाली का कहना है कि दुनिया भर में इकोनॉमी रिवाइवल की कोशिश जारी है। अधिकांश लोगों के लिए ये बाजार का भयानक दौर है। लेकिन इस समय क्वालिटी शेयरों में निवेश से आगे फायदा निश्चित है। निवेशकों को धैर्य रखने की जरूरत है। क्वालिटी वाले शेयरों में पैसे लगाने का मौका है।  
 
इस बीच आज प्रिंसिपल इकोनॉमिक एडवाइजर संजीव सन्याल ने कहा है कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सही कदम उठाए गए हैं। भारत सरकार हर मुद्दे पर सतर्क है। भारतीय अर्थव्यवस्था के फंडामेंटल्स मजबूत हैं। दुनियाभर के बाजारों की वजह से भारत में गिरावट देखने को मिल रही है। निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार हर संभव कोशिश के लिए तैयार है। सरकार फिस्कल, मॉनिटरी दोनों तरह की राहत को तैयार है। कम महंगाई पर RBI के पास भी दरें घटाने का मौका है।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।