Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

भारत निवेश के लिए सबसे बेहतर विकल्प, अप्रैल में दिखेगी जोरदार तेजी: संजीव भसीन

कोरोना के कहर के चलते बाजार में गिरावट की तेज आंधी चल रही है।
अपडेटेड Mar 12, 2020 पर 15:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कोरोना के कहर के चलते बाजार में गिरावट की तेज आंधी चल रही है। निफ्टी 32 महीने के निचले स्तर पर कारोबार कर रहा है। 2 हफ्ते में निफ्टी का 11 लाख करोड़ रुपये का मार्केट कैप साफ हो गया है। सेंसेक्स 2 साल के निचले स्तर पर दिख रहा है। आज BSE का 10 लाख करोड़ का मार्केट कैप साफ हो गया है। ऑटो इंडेक्स करीब 6 साल के निचले स्तर पर दिख रहा है। PSU बैंक इंडेक्स अब तक के निचले स्तर पर है। सभी सेक्टर इंडेक्स 52 हफ्ते के निचले स्तर पर दिख रहे हैं। BSE के 750 से ज्यादा स्टॉक्स 52 हफ्ते के नीचे दिख रहे हैं। यही नहीं BSE के 250 से ज्यादा स्टॉक्स LOWER CIRCUIT पर हैं।


अब आपको क्या करना चाहिए इस पर दर्शकों को सलाह देने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ के साथ हैं IIFL के संजीव भसीन और prakashdiwan.in के  Prakash Diwan, रेलिगेयर का अजीत मिश्रा। शेयरों पर सवाल पूछने के लिए आप 1800-209-7890 पर कॉल कर सकते हैं या फिर 7045-220-000 पर WhatsApp कर सकते हैं।


संजीव भसीन का कहना है कि कोरोना संकट के बावजूद भारत निवेश के लिए बेहतर विकल्प बना रहेगा। क्रूड की कीमतों में गिरावट से भारत को फायदा होगा। टेलीकॉम और बैकिंग सेक्टर से निपटनें में सरकार और आरबीआई ने काफी तेजी दिखाई है। इसका भी इकोनॉमी पर सकारात्मक असर होगा। अगले 2 हफ्तों में बाजार में जोरदार रिवर्सल देखने को मिलेगा और बाजार सुधरते हुए दिखाई देंगे।


प्रकाश दीवान का कहना है कि इस समय निवेशकों की दुविधा बहुत ही बड़ी और वास्तविक भी है। इस समय एक ही बात ध्यान रखने की है कि तूफान आने पर हल्के-फुलके कमजोर पेड़ जड़ से निकल जाते हैं लेकिन मजबूत पेड़ कुछ टहनियों और पत्तियों के नुकासन के बावजूद खड़े रहते हैं और तूफान गुजरने को बाद इनमें वापिस ग्रोथ होने लगती है। इसको ध्यान में रखते हुए अगर आपकी कंपनी अच्छी है तो बने रहें और कमजोर शेयरों से नुकसान की परवाह न करते हुए निकल जाएं।  
 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।