दिनभर रहेगी इन शेयरों में हलचल -
Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

दिनभर रहेगी इन शेयरों में हलचल

प्रकाशित Tue, 07, 2018 पर 07:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


रिलायंस कम्युनिकेशंस


रिलायंस कम्युनिकेशंस ने डॉलर बॉन्ड के बायबैक या एक्सचेंज का ऑफर दिया है। रिलायंस कम्युनिकेशंस ने 2020 में मैच्योर होने वाले बॉन्ड के लिए ऑफर दिया है। रिलायंस कम्युनिकेशंस बॉन्ड को कैश में खरीदेगी या नए बॉन्ड जारी करेगी। कंपनी बॉन्ड का ब्याज नहीं चुका पाई थी।


सिंडिकेट बैंक


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में सिंडिकेट बैंक को 1,281.8 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सिंडिकेट बैंक को 263.2 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में देना बैंक की ब्याज आय 5.9 फीसदी घटकर 1,505.9 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सिंडिकेट बैंक की ब्याज आय 1,606.6 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में सिंडिकेट बैंक का ग्रॉस एनपीए 11.53 फीसदी से बढ़कर 12.59 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में सिंडिकेट बैंक का नेट एनपीए 6.28 फीसदी से बढ़कर 6.64 फीसदी रहा है।


अदानी पोर्ट्स


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स का मुनाफा 9.1 फीसदी घटकर 697.4 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स का मुनाफा 767.5 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स की आय 12.2 फीसदी घटकर 2,411 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स की आय 2,745.1 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स का एबिटडा 1,408.5 करोड़ रुपये से घटकर 1,205.8 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में अदानी पोर्ट्स का एबिटडा मार्जिन 51.3 फीसदी से घटकर 50 फीसदी रहा है।


यूनिकेम लैब


यूएस एफडीए ने यूनिकेम लैब के रोहा एपीआई प्लांट पर 4 आपत्तियां जारी की हैं। हालांकि कंपनी का कहना है कि यूएस एफडीए की आपत्तियों का कारोबार पर असर नहीं होगा।


उज्जीवन


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में उज्जीवन को 45 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में उज्जीवन को 75 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। वहीं, साल दर साल आधार पर वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में उज्जीवन की ब्याज आय 60.9 फीसदी बढ़कर 222.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में उज्जीवन का नेट इंटरेस्ट मार्जिन 9.2 फीसदी से बढ़कर 11.6 फीसदी रहा है।


तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में उज्जीवन का ग्रॉस एनपीए 3.6 फीसदी से घटकर 2.7 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में उज्जीवन का नेट एनपीए 0.7 फीसदी से घटकर 0.3 फीसदी रहा है।