Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों वाले शेयर जिनमें बनेगा पैसा

प्रकाशित Thu, 09, 2018 पर 07:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


एसबीआई / पीएनबी / बैंक ऑफ बड़ौदा / बैंक ऑफ इंडिया


आरबीआई सरकार को 50,000 करोड़ रुपये का डिविडेंड देगा। सरकार को डिविडेंड के तौर पर 5,000 करोड़ रुपये ज्यादा मिलेंगे।


एचपीसीएल


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में एचपीसीएल का मुनाफा 1.6 फीसदी बढ़कर 1719.2 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में एचपीसीएल का मुनाफा 1,747.9 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में एचपीसीएल की आय 11.7 फीसदी बढ़कर 67,628.9 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में एचपीसीएल की आय 60,625 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एचपीसीएल का एबिटडा 2,737.7 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,262.7 करोड़ रुपये हो गया है। तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में एचपीसीएल का एबिटडा मार्जिन 4.5 फीसदी से बढ़कर 4.8 फीसदी रही है। वहीं, तिमाही आधार पर पहली तिमाही में एचपीसीएल का ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 5.86 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 7.15 डॉलर प्रति बैरल रहा है।


बीपीसीएल


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में बीपीसीएल का मुनाफा 14.2 फीसदी घटकर 2,293 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में बीपीसीएल का मुनाफा 2,673.6 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में बीपीसीएल की आय 9.9 फीसदी बढ़कर 71,696.7 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में बीपीसीएल की आय 65,239.4 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर पहली तिमाही में बीपीसीएल का एबिटडा 3,721.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,875.2 करोड़ रुपये हो गया है। तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में बीपीसीएल का एबिटडा मार्जिन 5.7 फीसदी से घटकर 5.4 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में बीपीसीएल का ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 7.49 डॉलर प्रति बैरल रहा है।


इंडियन बैंक


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में इंडियन बैंक का मुनाफा 43.8 फीसदी घटकर 209.3 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में इंडियन बैंक का मुनाफा 372.4 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में इंडियन बैंक की ब्याज आय 23.8 फीसदी बढ़कर 1,807 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में इंडियन बैंक की ब्याज आय 1,459.5 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में इंडियन बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.37 फीसदी से घटकर 7.20 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में इंडियन बैंक का नेट एनपीए 3.81 फीसदी घटकर 3.79 फीसदी रहा है।


नाल्को


वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में नाल्को को 687.1 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में नाल्को को 128.9 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में नाल्को की आय 2,973.3 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में नाल्को की आय 1,802.7 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर पहली तिमाही में नाल्को का एबिटडा 227.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 1010.6 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में नाल्को का एबिटडा मार्जिन 12.6 फीसदी से बढ़कर 34 फीसदी रहा है।


सीमेंस


साल 2018 की अप्रैल-जून तिमाही में सीमेंस का मुनाफा 7 फीसदी घटकर 204.4 करोड़ रुपये रहा है। साल 2018 की जनवरी-मार्च तिमाही में सीमेंस का मुनाफा 219.7 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में सीमेंस की आय 3,283.4 करोड़ रुपये से घटकर 3,073 करोड़ रुपये रही है।


तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में सीमेंस का एबिटडा 322.8 करोड़ रुपये से घटकर 302.3 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में सीमेंट का एबिटडा मार्जिन बिना बदलाव के 9.8 फीसदी पर बरकरार रहा है।