Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों का दम, इन शेयरों पर करें फोकस

प्रकाशित Thu, 01, 2018 पर 08:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


एलएंडटी


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में एलएंडटी का मुनाफा 26 फीसदी बढ़कर 2689.6 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में एलएंडटी का मुनाफा 2131 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में एलएंडटी की आय 21 फीसदी बढ़कर 32081 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में एलएंडटी की आय 26447 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में एलएंडटी का एबिटडा 2962 करोड़ रुपये से बढ़कर 2689.6 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में एलएंडटी का एबिटडा मार्जिन 11.2 फीसदी से बढ़कर 11.8 फीसदी रहा है।


टाटा मोटर्स


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में टाटा मोटर्स को 1,048.8 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में टाटा मोटर्स को 2,482.8 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में टाटा मोटर्स की आय 70,373.4 करोड़ रुपये से 2.5 फीसदी बढ़कर 72,112 करोड़ रुपये रही है।


सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में टाटा मोटर्स का एबिटडा 8,692.5 करोड़ रुपये से घटकर 6,257.6 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में टाटा मोटर्स का एबिटडा मार्जिन 12.4 फीसदी से घटकर 8.7 फीसदी रहा है।


दूसरी तिमाही में जेएलआर की आय 563.5 करोड़ यूरो रही है। दूसरी तिमाही में जेएलआर की आय 560.4 करोड़ यूरो रहने का अनुमान था। दूसरी तिमाही में जेएलआर का एबिटडा मार्जिन 9.1 फीसदी रहा है।


वेदांता


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में वेदांता का मुनाफा 38.8 फीसदी घटकर 1,900 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में वेदांता का मुनाफा 2,915 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में वेदांता की आय 21,590 करोड़ रुपये से 5.2 फीसदी बढ़कर 22,705 करोड़ रुपये रही है।


सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में वेदांता का एबिटडा 5,670 करोड़ रुपये से घटकर 5,208 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में वेदांता का एबिटडा मार्जिन 26.3 फीसदी से घटकर 22.9 फीसदी रहा है। वेदांता ने 17 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम डिविडेंड का एलान किया है।


केनरा बैंक


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में केनरा बैंक का मुनाफा 15.1 फीसदी बढ़कर 299.5 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में केनरा बैंक का मुनाफा 260.2 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में केनरा बैंक की ब्याज आय 17.9 फीसदी बढ़कर 3,281.3 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में केनरा बैंक की ब्याज आय 2,783.4 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर जुलाई-सितंबर तिमाही में केनरा बैंक का ग्रॉस एनपीए 11.05 फीसदी से घटकर 10.56 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर जुलाई-सितंबर तिमाही में केनरा बैंक का नेट एनपीए 6.91 फीसदी से घटकर 6.54 फीसदी रहा है।


सिंडिकेट बैंक


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में सिंडिकेट बैंक को 1,542.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में सिंडिकेट बैंक को 105.2 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में सिंडिकेट बैंक की ब्याज आय 4.7 फीसदी घटकर 1,572.3 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में सिंडिकेट बैंक की ब्याज आय 1,649.5 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर जुलाई-सितंबर तिमाही में सिंडिकेट बैंक का ग्रॉस एनपीए 12.59 फीसदी से बढ़कर 12.98 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर जुलाई-सितंबर तिमाही में सिंडिकेट बैंक का नेट एनपीए 6.64 फीसदी से बढ़कर 6.83 फीसदी रहा है।


बॉश


सोमवार को कंपनी की अहम बोर्ड बैठक है। इस बोर्ड बैठक में बोर्ड शेयर बायबैक पर विचार करेगा।