Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों में है दम, इन शेयरों में जरूर रहेगी हलचल

प्रकाशित Fri, 07, 2018 पर 07:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


एचसीएल टेक का आईबीएम से करार


एचसीएल टेक 180 करोड़ डॉलर में आईबीएम सॉफ्टवेयर के चुनिंदा सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट्स खरीदेगी। आईबीएम के साथ ये सौदा 2019 के मध्य तक पूरा होने की उम्मीद है। एचसीएल टेक सॉफ्टवेयर कारोबार में बड़े पैमाने पर उतरने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है।


एनटीपीसी में मर्ज होगी एसजेवीएनएल


सूत्रों के मुताबिक पीएफसी, आरईसी के बाद अब एनटीपीसी, एसजेवीएनएल मर्जर की बारी है। एसजेवीएनएल में केंद्र सरकार अपनी पूरी हिस्सेदारी एनटीपीसी को बेचेगी। हिमाचल सरकार की आपत्ति की वजह से अब तक प्रस्ताव अटका हुआ था। जल्द ही प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया जाएगा। अभी एसजेवीएनएल में केंद्र की हिस्सेदारी 63.79 फीसदी और हिमाचल सरकार की हिस्सेदारी 26.85 फीसदी है।


एचपीसीएल/बीपीसीएल/आईओसी


ब्रेंट क्रूड 60 डॉलर के नीचे फिसल गया है। आज ऑयल मार्केटिंग कंपनियों पर नजरें रहेंगी।


पंजाब एंड सिंध बैंक


पंजाब एंड सिंध बैंक आज फोकस में रहेगा। बैंक का बोर्ड 500 करोड़ रुपये के क्यूआईपी इश्यू पर विचार करेगा। 1500 करोड़ के टियर II बॉन्ड भी जारी करने पर विचार किया जाएगा।


जेट एयरवेज


जेट एयरवेज ने पायलटों को सैलरी पेमेंट का शेड्यूल दिया है। अक्टूबर की 75 फीसदी सैलरी इस महीने दी जाएगी। अक्टूबर की 25 फीसदी, नवंबर की 75 फीसदी सैलरी जनवरी में दी जाएगी। नवंबर की 25 फीसदी, जनवरी की 25 फीसदी, दिसंबर की पूरी सैलरी जनवरी में दी जाएगी। जनवरी की 75 फीसदी, फरवरी की पूरी सैलरी मार्च में दी जाएगी। जेट एयरवेज अप्रैल से पायलटों को वक्त पर सैलरी देगी।


जायडस वेलनेस


जायडस वेलनेस प्रेफ्रेंशियल इश्यू और सिक्योर्ड एनसीडी के जरिए फंड जुटाएगी। कंपनी की एनसीडी के जरिए 1500 करोड़ रुपये तक और प्रेफ्रेंशियल इश्यू से 2575 करोड़ रुपये तक जुटाने की योजना है।


भारत फाइनेंशियल


भारत फाइनेंशियल ने एक पीएसयू बैंक को डायरेक्ट असाइनमेंट बेसिस पर 834 करोड़ रुपये दिए हैं। 2018-19 में ये कंपनी का चौथा डायरेक्ट असाइनमेंट ट्रांजैक्शन है। कंपनी ने 2018-19 में 3016 करोड़ रुपये के डायरेक्ट असाइनमेंट ट्रांजैक्शन किए हैं।


आरईसी/पीएफसी


कल हुई कैबिनेट की बैठक में पीएफसी, आरईसी के अधिग्रहण प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी गई है। अब आरईसी पीएफसी की सब्सिडियरी बनेगी। आरईसी में सरकार की 52 फीसदी हिस्सेदारी पीएफससी को बेची जाएगी। मंत्रियों का समूह पीएफसी-आरईसी सौदे की रूपरेखा तय करेगा।