Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों वाले शेयर, इन पर बनी रहे नजर

यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।
अपडेटेड Jan 28, 2019 पर 09:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


एस्सेल ग्रुप (ज़ी एंटरटेनमेंट) का समझौता


एस्सेल ग्रुप का लेनदारों के साथ समझौता हो गया है। शेयर में गिरावट के कारण लेनदार कंपनी को डिफॉल्टर घोषित नहीं करेंगे। इस पर एस्सेल ग्रुप चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने अपनी सफाई में ओपन लेटर लिखते हुए इसमें कहा है कि कर्ज नहीं चुका पाए। वे कर्ज देने वालों से माफी मांगते हैं। कर्ज चुकाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे। जी एंटरटेनमेंट सौदा पूरा होने तक कर्जदाता संयम रखें। एस्सेल इंफ्रा में नीलामी के दौरान कुछ गलतियां हुई हैं। डी2एच का सौदा काफी महंगा पड़ा। आईएलएंडएफएस मामले के बाद हालात खराब हुए हैं। नित्यांक इंफ्रा पावर का एस्सेल ग्रुप से कोई संबंध नहीं है। किसी भी गलत ट्रांजैक्शन से हमारा कोई लेना-देना नहीं हैं। एसएफआईओ ने एस्सेल ग्रुप कंपनियों से अपना पक्ष रखने को कहा था।


ल्यूपिन


ल्यूपिन के पीथमपुरा प्लांट के लिए यूएसएफडीए ने आपत्तियां जारी की हैं। यूएसएफडीए ने 14-25 जनवरी की जांच के बाद 6 आपत्तियां जारी की हैं। कंपनी ने आपत्तियों की गंभीरता के बारे में नहीं बताया है।


कॉफीडे/माइंडट्री


माइंडट्री में वी जे सिद्धार्थ के शेयर ट्रांसफर पर रोक लग गई है। आईटी विभाग की तरफ से 6 हफ्ते के लिए शेयर ट्रांसफर पर रोक लगाई गई है। माइंडट्री में कॉफी डे के शेयर ट्रांसफर पर भी रोक लगाई गई है। दोनों से टैक्स डिमांड बढ़ सकती है।


आईसीआईसीआई बैंक


अरुण जेटली ने चंदा कोचर पर एफआईआर को लेकर नसीहत दी है। उन्होंने जांच एजेंसियों को एडवेंचर में नहीं पड़ने की सलाह देते हुए कहा है कि जांच एजेंसियां प्रोफेशनल तरीके से जांच करें। जो असली गुनहगार हैं उन्हीं पर फोकस करें। बता दें कि चंदा कोचर पर एफआईआर करने वाले जांच अधिकारी सुधांशु धर मिश्रा का तबादला कर दिया गया है।


एलएंडटी


सेबी से बायबैक खारिज होने पर तुरंत डिविडेंड नहीं दिया जाएगा। सेबी के साथ कई विकल्पों पर बातचीत हो रही है।


एस्टेक लाइफसाइंसेज


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एस्टेक लाइफसाइंसेज का मुनाफा 40.6 फीसदी बढ़कर 10 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एस्टेक लाइफसाइंसेज का मुनाफा 7.1 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एस्टेक लाइफसाइंसेज की आय 60.7 फीसदी बढ़कर 119.4 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एस्टेक लाइफसाइंसेज की आय 74.3 करोड़ रुपये रही थी।


नीलकमल


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में नीलकमल का मुनाफा 17 फीसदी घटकर 27.5 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में नीलकमल का मुनाफा 33 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में नीलकमल की आय 7.9 फीसदी बढ़कर 563 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में नीलकमल की आय 522 करोड़ रुपये रही थी।


एमएंडएम फाइनेंसियल


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एमएंडएम फाइनेंसियल का मुनाफा 3.8 फीसदी घटकर 318.6 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एमएंडएम फाइनेंसियल का मुनाफा 331.4 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एमएंडएम फाइनेंसियल की ब्याज आय 20.7 फीसदी बढ़कर 1204 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एमएंडएम फाइनेंसियल की ब्याज आय 1002.8 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में एमएंडएम फाइनेंसियल का ग्रॉस एनपीए 12.3 फीसदी से घटकर 7.7 फीसदी रहा है। वहीं, नेट एनपीए 8.2 फीसदी से घटकर 5.8 फीसदी रहा है।


इमामी


इमामी जर्मनी की पर्सनल केयर ब्रैंड क्रेमे 21 को खरीदेगी।