Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों वाले शेयर, इन पर बनी रहे नजर

यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।
अपडेटेड Feb 05, 2019 पर 10:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


कोल इंडिया


कोल इंडिया 235 रुपये प्रति शेयर के भाव पर शेयर बायबैक करेगी। कंपनी 4.47 करोड़ शेयरों का बायबैक करेगी। शेयर बायबैक पर कंपनी 1050 करोड़ रुपये खर्च करेगी


जुबिलेंट फूड


जुबिलेंट फूड मुनाफाखोरी की दोषी पाई गई है। कंपनी ने जीएसटी कटौती से मिले 41.42 करोड़ रुपये का फायदा ग्राहकों को नहीं पहुंचाया है। नेशनल एंटी-प्रोफिटियरिंग अथॉरिटी ने कंपनी को दोषी पाया है।


एसआरईआई इंफ्रा


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा का मुनाफा 23 फीसदी घटकर 91.4 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा का मुनाफा 118.8 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा की आय 5 फीसदी बढ़कर 1,621.1 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा की आय 1,543.9 करोड़ रुपये रहा थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा की एबिटडा 1,085.3 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,173.3 करोड़ रुपये रही है। साल दर साल आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में एसआरईआई इंफ्रा की एबिटडा मार्जिन 70.3 फीसदी से बढ़कर 72.4 फीसदी रही है।


आईआरबी इंफ्रा


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा का मुनाफा 5.6 फीसदी बढ़कर 218.9 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा का मुनाफा 207.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा की आय 38 फीसदी बढ़कर 1,788.5 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा की आय 1,296.2 करोड़ रुपये रहा थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा की एबिटडा 630.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 760.4 करोड़ रुपये रही है। साल दर साल आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में आईआरबी इंफ्रा की एबिटडा मार्जिन 48.6 फीसदी से बढ़कर 42.5 फीसदी रही है।


फ्यूचर रिटेल


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल का मुनाफा 3.9 फीसदी बढ़कर 201 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल का मुनाफा 183 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल की आय 13 फीसदी बढ़कर 5,301 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल की आय 4,693 करोड़ रुपये रहा थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल की एबिटडा 218 करोड़ रुपये से बढ़कर 283 करोड़ रुपये रही है। साल दर साल आधार पर वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में फ्यूचर रिटेल की एबिटडा मार्जिन 4.6 फीसदी से बढ़कर 5.3 फीसदी रही है।


अंबर एंटरप्राइज 


जीएमओ एमर्जिंग डोमेस्टिक ऑपर्च्युनिटीज फंड ने अंबर एंटरप्राइज में 1.10 फीसदी हिस्सा बेचा है। 680.08 रुपये प्रति शेयर के भाव पर ये सौदा हुआ है।


डॉ रेड्डीज


अमेरिका में प्राइस फिक्स करने की शिकायत की गई है। प्राइस फिक्स करने की आरोपी कंपनियों में डॉ रेड्डीज भी शामिल है। हालांकि डॉ रेड्डीज ने आरोपों से इनकार किया है।