Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

ये हैं आज के खबरों वाले शेयर, इनसे न चूके नजर

यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।
अपडेटेड May 02, 2019 पर 09:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


ब्रिटानिया


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में ब्रिटानिया का मुनाफा 12 फीसदी बढ़कर 294.3 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में ब्रिटानिया का मुनाफा 263 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में ब्रिटानिया की आय 10.3 फीसदी बढ़कर 2,799 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में ब्रिटानिया की आय 2,537.5 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में ब्रिटानिया का एबिटडा 397 करोड़ रुपये से बढ़कर 436.7 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में ब्रिटानिया का एबिटडा मार्जिन 15.65 फीसदी से घटकर 15.60 फीसदी रही है।


अशोक लेलैंड 


इक्रा ने अशोक लेलैंड की रेटिंग बढ़ाई है। इक्रा ने अशोक लेलैंड की लॉन्ग टर्म रेटिंग AA से बढ़ाकर AA+ की है।


टीवीएस मोटर्स


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स का मुनाफा 19.2 फीसदी घटकर 133.8 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स का मुनाफा 165.6 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स की आय 9.4 फीसदी बढ़कर 4,384 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स की आय 4,007 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स का एबिटडा 295.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 308.1 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में टीवीएस मोटर्स का एबिटडा मार्जिन 7.4 फीसदी से घटकर 7 फीसदी रही है।


एफएंडओ में 3 नई कंपनियां होंगी शामिल
 
एफएंडओ में 3 नई कंपनियां शामिल होंगी। एफएंडओ में शामिल होने वाली कंपनियों में पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस, एंफेसिस और एलएंडटी इंफोटेक के नाम हैं। इन कंपनियों में 31 मई से एफएंडओ ट्रेडिंग की शुरुआत होगी।


रुचि सोया


बैंकरों ने पतंजलि की बोली को मंजूरी दे दी है। बता दें कि पतंजलि ने रुचि सोया के लिए 4325 करोड़ रुपये की बोली लगाई है।


अंबुजा सीमेंट


साल 2019 की पहली तिमाही में अंबुजा सीमेंट का स्टैंडअलोन मुनाफा 57.1 फीसदी बढ़कर 427 करोड़ रुपये हो गया है। साल 2018 की पहली तिमाही में अंबुजा सीमेंट का स्टैंडअलोन मुनाफा 271.8 करोड़ रुपये रहा था।


साल 2019 की पहली तिमाही में अंबुजा सीमेंट की स्टैंडअलोन आय 2.3 फीसदी बढ़कर 2,927.6 करोड़ रुपये हो गयी है। साल 2018 की पहली तिमाही में अंबुजा सीमेंट की स्टैंडअलोन आय 2,862.6 करोड़ रुपये रही थी।


साल 2019 की पहली तिमाही में अंबुजा सीमेंट का स्टैंडअलोन एबिटडा 507 करोड़ रुपये से घटकर 463.3 करोड़ रुपये रहा है। साल दल साल आधार पर अंबुजा सीमेंट का स्टैंडअलोन एबिटडा मार्जिन 17.7 फीसदी से घटकर 15.8 फीसदी रही है।


सालाना आधार पर कंपनी की अन्य आय 50.7 करोड़ रुपये से बढ़कर 240.2 करोड़ रुपये रही हो गई है।


अंजता फार्मा


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में अंजता फार्मा का मुनाफा 5.9 फीसदी घटकर 88.9 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में अंजता फार्मा का मुनाफा 94.5 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में अंजता फार्मा की आय 2.8 फीसदी घटकर 515.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में अंजता फार्मा की आय 530.3 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में अंजता फार्मा का एबिटडा 139.5 करोड़ रुपये से घटकर 127.1 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में अंजता फार्मा का एबिटडा मार्जिन 26.3 फीसदी से घटकर 24.7 फीसदी रही है।


रेमंड


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रेमंड का मुनाफा 24 फीसदी बढ़कर 67.7 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में रेमंड का मुनाफा 54.5 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रेमंड की आय 11 फीसदी बढ़कर 1,808.7 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में रेमंड की आय 1,629.8 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में रेमंड का एबिटडा 150.5 करोड़ रुपये से बढ़कर 166.9 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में रेमंड का एबिटडा मार्जिन बिना किसी बदलाव के 9.2 फीसदी पर रहा है।


इंडियन होटल्स


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स का मुनाफा 54.6 फीसदी बढ़कर 122.5 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स का मुनाफा 79.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स की आय 8.8 फीसदी बढ़कर 1,244.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स की आय 1,143.5 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स का एबिटडा 244.8  करोड़ रुपये से बढ़कर 284.3 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स का एबिटडा मार्जिन 21.4 फीसदी से बढ़कर 22.8 फीसदी रही है।


फ्यूचर लाइफस्टाइल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल का मुनाफा 50 फीसदी बढ़कर 189 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल का मुनाफा 126 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल की आय 27.3 फीसदी बढ़कर 5,728 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल की आय 4,498 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल का एबिटडा 413.5 करोड़ रुपये से बढ़कर 525.8 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में फ्यूचर लाइफस्टाइल का एबिटडा मार्जिन 9.2 फीसदी पर बरकरार रहा है।


जेंसार टेक


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जेंसार टेक का मुनाफा 49.5 फीसदी बढ़कर 82.7 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में जेंसार टेकका मुनाफा 55.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जेंसार टेक की आय 2.1 फीसदी बढ़कर 1,057.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में जेंसार टेक की आय 1,035.5 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में जेंसार टेक का एबिटडा 110.3 करोड़ रुपये से बढ़कर 129.7 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में जेंसार टेक का एबिटडा मार्जिन 10.7 फीसदी से बढ़कर 12.3 फीसदी रही है।