Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों के दम पर आज इन शेयरों में जरूर रहेगी हलचल

प्रकाशित Tue, 07, 2019 पर 08:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का मुनाफा 5 फीसदी घटकर 969 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का मुनाफा 1,020 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज आय 26.5 फीसदी बढ़कर 7,620 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज आय 6,021.7 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का ग्रॉस एनपीए 7.75 फीसदी से घटकर 7.38 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का नेट एनपीए 2.58 फीसदी से घटकर 2.29 फीसदी रहा है।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की प्रोविजनिंग 4,244 करोड़ रुपये से बढ़कर 5,451 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछले साल की चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की प्रोविजनिंग 6,626 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का घरेलू लोन ग्रोथ 3.5 फीसदी रहा है जबकि सालाना आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का घरेलू लोन ग्रोथ 14.1 फीसदी रहा था। तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में बैंक का नेट इंटरेस्ट मार्जिन 3.40 फीसदी से बढ़कर 3.72 फीसदी हो गया है।


तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक का प्रोविजन कवरेज रेश्यो 76.3 फीसदी से बढ़कर 80.7 फीसदी रहा है। जबकि तिमाही आधार पर इस तिमाही में नेट इन्टरेस्ट मार्जिन 3.40 फीसदी से बढ़कर 3.72 फीसदी पर रही है।


सालाना आधार पर चौथी तिमाही में बैंक की अन्य आय 5,679 करोड़ रुपये से घटकर 3,621 करोड़ रुपये रही है।


गोदरेज एग्रोवेट


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट को 121 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट का मुनाफा 32 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट की आय 12.5 फीसदी बढ़कर 1,343 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट की आय 1,195 करोड़ रुपये रहा थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट की एबिटडा 74.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 75.9 करोड़ रुपये रही है। साल दर साल आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गोदरेज एग्रोवेट की एबिटडा मार्जिन 6.2 फीसदी से घटकर 5.6 फीसदी रही है।


भारती एयरटेल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में भारती एयरटेल का मुनाफा 24.4 फीसदी बढ़कर 107.2 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में भारती एयरटेल का मुनाफा 86.2 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में भारती एयरटेल की आय 20,602 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है जबकि इस तिमाही भारती एयरटेल की आय 20,666 करोड़ रुपये रहने का अनुमान था।


एचडीएफसी बैंक


एचडीएफसी बैंक 22 मई को स्टॉक स्प्लिट पर विचार करेगा। एक शेयर को दो शेयर में तोड़ने पर विचार होगा।


गुजरात गैस


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गुजरात गैस का मुनाफा 15.6 फीसदी घटकर 116.5 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में गुजरात गैस का मुनाफा 138 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में गुजरात गैस की आय 9.9 फीसदी घटकर 1,907.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में गुजरात गैस की आय 2,117.4 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर गुजरात गैस का एबिटडा 321 करोड़ रुपये से घटकर 254 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में गुजरात गैस का एबिटडा मार्जिन 15 फीसदी से घटकर 13.3 फीसदी रहा है।


मैरिको


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में मैरिको का मुनाफा 18.6 फीसदी बढ़कर 217 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में मैरिको का मुनाफा 183 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में मैरिको की आय 8.7 फीसदी बढ़कर 1,609 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में मैरिको की आय 1,480 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर मैरिको का एबिटडा 252 करोड़ रुपये से बढ़कर 283 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में मैरिको का एबिटडा मार्जिन 17 फीसदी से बढ़कर 17.6 फीसदी रहा है।


वाकहॉर्ट


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में वाकहॉर्ट को 14.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में वाकहॉर्ट को 154.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में वाकहॉर्ट की आय 3.8 फीसदी घटकर 979  करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में वाकहॉर्ट की आय 1,018 करोड़ रुपये रही थी।


नवीन फ्लोरीन


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में नवीन फ्लोरीन का मुनाफा 8.7 फीसदी घटकर 35.9 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में नवीन फ्लोरीन को 39.3 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में नवीन फ्लोरीन की आय 17.2 फीसदी बढ़कर 244.3 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में नवीन फ्लोरीन की आय 208.4 करोड़ रुपये रही थी।


जीई शिपिंग


कंपनी के बोर्ड ने एनसीडी से 1000 करोड़ रुपये जुटाने को मंजूरी दे दी है।