Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों के दम पर आज इन शेयरों पर रहेगा फोकस

यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।
अपडेटेड May 09, 2019 पर 08:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


टाटा कम्युनिकेशंस


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा कम्युनिकेशंस को 198.8 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में टाटा कम्युनिकेशंस को 173.3 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा कम्युनिकेशंस की आय 8.2 फीसदी बढ़कर 4243.5 करोड़ रुपये रही है जबकि इसी वित्त वर्ष की तीसरी तिमाबही में कंपनी की आय 3921.5 करोड़ रुपये रही थी।


यस बैंक


इंडिया रेटिंग्स ने यस बैंक की लॉन्ग टर्म बॉन्ड रेटिंग AA+ से घटाकर AA- कर दी है।


टाइटन


टाइटन को मार्च तिमाही में साल दर साल के हिसाब से 4 फीसदी का प्रॉफिट हुआ है। इस दौरान कंपनी का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट 4.42 फीसदी बढ़कर 294.58 करोड़ रुपए हो गया है। पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 282.12 करोड़ रुपए था। इस दौरान कंपनी का मार्जिन 9.8 फीसदी रहा।


कंपनी ने बताया है कि मार्च 2019 को खत्म तिमाही में उसे 70 करोड़ रुपए का वन टाइम लॉस हुआ है। इस बीच कंपनी के बोर्ड ने प्रति शेयर 5 रुपए का डिविडेंड देने की सिफारिश की है।


टाइटन ने रिलीज में बताया है कि फिस्कल ईयर 2018-19 में उसकी कर सहित आमदनी 22.7 फीसदी बढ़कर 1,927 करोड़ रुपए हो गई है। यह IL&FS और स्विस सब्सिडियरी फावरे लेउबा में किए निवेश की 100 फीसदी प्रोविजनिंग के बाद है।


स्टैंडअलोन आधार पर कंपनी की टोटल इनकम बढ़कर 4,727.18 करोड़ रुपए हो गई है। पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी की कुल आमदनी 3936.77 करोड़ रुपए थी। फुल फाइनेंशियल ईयर के हिसाब से देखें तो टाइटन का प्रॉफिट 1,162.87 करोड़ रुपए से बढ़कर 1,374.36 करोड़ रुपए हो गया है।


श्रीराम ट्रांसपोर्ट


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में श्रीराम ट्रांसपोर्ट का मुनाफा 22.4 फीसदी घटकर 746 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में श्रीराम ट्रांसपोर्ट का मुनाफा 961.8 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में श्रीराम ट्रांसपोर्ट की ब्याज आय 2.8 फीसदी बढ़कर 1905.9 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में श्रीराम ट्रांसपोर्ट की ब्याज आय 1854.6 करोड़ रुपये रही थी।


हिंडाल्को


हिंडाल्को की सब्सिडियरी नोविलिस के नतीजे अनुमान से बेहतर रहे हैं।


सारेगामा इंडिया


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में सारेगामा इंडिया का मुनाफा 24.9 फीसदी घटकर 16 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में सारेगामा इंडिया का मुनाफा 21.4 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में सारेगामा इंडिया की आय 17.8 फीसदी बढ़कर 124 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में सारेगामा इंडिया की आय 105 करोड़ रुपये रही थी।


केईसी इंटरनेशनल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में केईसी इंटरनेशनल का मुनाफा 1.3 फीसदी बढ़कर 198.8 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में केईसी इंटरनेशनल का मुनाफा 196.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में केईसी इंटरनेशनल की आय 4.9 फीसदी बढ़कर 3841.2 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में केईसी इंटरनेशनल की आय 3662.4 करोड़ रुपये रही थी।


जिलेट


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जिलेट का मुनाफा 36.3 फीसदी बढ़कर 48 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में जिलेट का मुनाफा 35.5 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जिलेट की आय 3.1 फीसदी बढ़कर 465.6 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में जिलेट की आय 451.5 करोड़ रुपये रही थी।