Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों वाले शेयर, इन पर बनी रहे नजर

प्रकाशित Tue, 21, 2019 पर 08:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


टाटा मोटर्स


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स को 1,117.5 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी को 2,699 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। 


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स की आय 3.9 फीसदी घटकर 86,422 करोड़ रुपये पर रहा है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी की आय 89,929 करोड़ रुपये रहा था।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स की एबिटडा 9,900.1 करोड़ रुपये से घटकर 8,449.5 करोड़ रुपये रहा है। साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की एबिटडा मार्जिन 11 फीसदी से घटकर 9.8 फीसदी पर रही है।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स का स्टैंडअलोन मुनाफा 106.2 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी को 499.9 करोड़ रुपये का स्टैंडअलोन घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स की स्टैंडअलोन आय 3.2 फीसदी घटकर 18,561.4 करोड़ रुपये पर रहा है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी की स्टैंडअलोन आय 19,173.5 करोड़ रुपये रहा था।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टाटा मोटर्स की स्टैंडअलोन एबिटडा 507.9  करोड़ रुपये से बढ़कर 1,189.1 करोड़ रुपये रहा है। साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की स्टैंडअलोन एबिटडा मार्जिन 2.6 फीसदी से बढ़कर 6.4 फीसदी पर रही है।


चौथी तिमाही में जेएलआर की आय 7,134 करोड़ यूरो रही है। चौथी तिमाही में जेएलआर की आय 7,117 करोड़ यूरो रहने का अनुमान था। चौथी तिमाही में जेएलआर का एबिटडा मार्जिन 9.8 फीसदी रहा है।


बीपीसीएल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में बीपीसीएल को 3,124.9 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी को 495.1 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। 


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में बीपीसीएल की आय 6.6 फीसदी घटकर 73,990.4 करोड़ रुपये पर रहा है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी की आय 79,209 करोड़ रुपये रही थी।


एचपीसीएल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में एचपीसीएल को 2,969.9 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि वित्त वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही में कंपनी को 247.5 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। 


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में एचपीसीएल की आय 5.8 फीसदी घटकर 67,938.1 करोड़ रुपये पर रही है जबकि वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी की आय 72,112 करोड़ रुपये रही थी।


टोरेंट फार्मा


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टोरेंट फार्मा को 152 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में टोरेंट फार्मा को 228 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में टोरेंट फार्मा की आय 8.7 फीसदी बढ़कर 1,856 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में टोरेंट फार्मा की आय 1,708 करोड़ रुपये रही थी।


फोकस में अदानी ग्रीन


प्रोमोटर OFS के जरिए 5.6 फीसदी तक हिस्सा बेचेंगे। OFS का फ्लोर प्राइस 43/शेयर तय की गई है।