Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

ये हैं आज के चर्चित शेयर, इन पर बनी रहे नजर

यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।
अपडेटेड May 30, 2019 पर 08:55  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


इंटरनेशनल पेपर
 
वेस्ट कोस्ट पेपर इंटरनेशनल पेपर के भारतीय कारोबार को खरीदेगी। कंपनी ये सौदा 275 रुपए प्रति शेयर के भाव से करेगी जो मौजूदा बाजार भाव से करीब 40 परसेंट के डिस्काउंट पर है। वेस्ट कोस्ट पेपर के ED और CFO राजेंद्र जैन का कहना है कि इंटरनेशनल पेपर का प्लांट काफी पुराना है इसलिए सौदा काफी कम भाव पर किया है।


रियल एस्टेट को राहत संभव


रियल सेक्टर के लिए राहत पैकेज की तैयारी है। सरकार इस सेक्टर के लिए रेंटल पॉलिसी ला सकती है जिसके तहत इंस्टीट्यूशंस की तरफ से खरीदी गई प्रॉपर्टी को रेंट पर देने पर टैक्स छूट मिल सकती है। रेंटल इनकम से होने वाले मुनाफे पर इनकम टैक्स छूट का प्रस्ताव भी है। शुरुआती प्रस्ताव के मुताबिक 10 साल तक इनकम टैक्स से छूट मिल सकती है। वित्त मंत्रालय ने रियल एस्टेट संगठन CREDAI और NAREDCO से रेंटल प्रॉपर्टी की डीटेल मांगी है। वित्त मंत्रालय ने रेंटल बिजनेस मॉडल पर डिटेल प्रेजेंटेशन भी मांगा है।


फैक्ट/मद्रास फर्टिलाइजर


फर्टिलाइजर कंपनियों फैक्ट और मद्रास फर्टिलाइजर को बड़ी राहत मिल सकती है। सूत्रों के मुताबित दो कंपनियों की माली हालत सुधारने के लिए पैकेज जल्द आ सकता है। इस बाबत फर्टिलाइजर मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय से चर्चा की है। फर्टिलाइजर मंत्रालय के प्रस्ताव से वित्त मंत्रालय सहमत है। नई सरकार बनते ही ये प्रस्ताव कैबिनेट में भेजा जाएगा। रिवाइल प्लान के तहत तीन विकल्पों पर फोकस होगा।


यूनाइटेड स्पिरिट


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में यूनाइटेड स्पिरिट का मुनाफा 40.2 फीसदी घटकर 126.2 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में यूनाइटेड स्पिरिट का मुनाफा 211 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में यूनाइटेड स्पिरिट की आय 3.5 फीसदी घटकर 2,250 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में यूनाइटेड स्पिरिट की आय 2,173.7 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार चौथी तिमाही में यूनाइटेड स्पिरिट का एबिटडा 275.7 करोड़ रुपये से बढ़कर 283.6 करोड़ रुपये रहा है वहीं इसी अवधि में एबिटडा मार्जिन 12.7 फीसदी से घटकर 12.6 फीसदी रहा है।


बीईएल


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में बीईएल का मुनाफा 19.7 फीसदी बढ़कर 668.6 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में बीईएल का मुनाफा 558.7 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में बीईएल की आय 7.3 फीसदी बढ़कर 3,884.6 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में बीईएल की आय 3,621.8 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार चौथी तिमाही में बीईएल का एबिटडा 796.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 929 करोड़ रुपये रहा है वहीं इसी अवधि में इसका एबिटडा मार्जिन 22 फीसदी से बढ़कर 23.9 फीसदी रहा है।


पावर ग्रिड


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में पावर ग्रिड का मुनाफा 51.9 फीसदी बढ़कर 3,053.9 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में पावर ग्रिड का मुनाफा 2,010.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में पावर ग्रिड की आय 18 फीसदी बढ़कर 9,218 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में पावर ग्रिड की आय 7,814.4 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार चौथी तिमाही में पावर ग्रिड का एबिटडा 6,527.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 7,793.2 करोड़ रुपये रहा है वहीं इसी अवधि में इसका एबिटडा मार्जिन 83.5 फीसदी से बढ़कर 84.5 फीसदी रहा है।


अबान ऑफशोर


अबान ऑफशोर के बोर्ड ने विदेश से 40 करोड़ डॉलर जुटाने की मंजूरी दे दी है। कंपनी के बोर्ड ने QIP से 2500 करोड़ रुपये जुटाने को भी मंजूरी दे दी है।