कोरोना महामारी के कारण संसद के शीतकालीन और बजट सत्र को एकसाथ कराने पर हो रहा विचार

कोरोना महामारी के कारण संसद के शीतकालीन और बजट सत्र को एकसाथ कराने पर हो रहा विचार

कोरोना महामारी के बीच 14 सितंबर से चला मॉनसून सत्र की अवधि आठ दिन कम कर दी गई थी और 24 सितंबर को सत्र समाप्त हो गया

अपडेटेड Nov 16, 2020 पर 10:03 PM | स्रोत : Moneycontrol.com

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह विचार किया जा रहा है कि अलग-अलग शीतकालीन (Winter Session) और बजट सत्र (Budget Session) के बजाए एक बार ही संसद के विस्तारित सत्र का आयोजन किया जाए। सूत्रों ने बताया कि हालांकि अभी अंतिम फैसला नहीं हुआ है और शुरुआती स्तर पर ही चर्चा चल रही है। अंतिम निर्णय लिया जाना बाकी है, लेकिन ऐसे सुझाव आए हैं कि छोटी अवधि में दो सत्र के स्थान पर एक ही ज्वाइंट सत्र का आयोजन किया जाए।

बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र आमतौर पर नवंबर के अंतिम सप्ताह या दिसंबर के पहले सप्ताह में शुरू होता है, जबकि बजट सत्र जनवरी के अंतिम हफ्ते से शुरू होता है और एक फरवरी को आम बजट पेश किया जाता है। कोरोना महामारी के बीच 14 सितंबर से चला मॉनसून सत्र की अवधि आठ दिन कम कर दी गई थी और 24 सितंबर को सत्र समाप्त हो गया। इस सत्र के दौरान कोरोना से निपटने के लिए अधिकारियों ने व्यापक व्यवस्था की थी लेकिन कई सांसद और संसद के कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए।

मॉनसून सत्र के दौरान लोकसभा और राज्यसभा में बैठक व्यवस्था में भी बदलाव किया गया और सदस्यों के बैठने के लिए दोनों चैंबरों और गैलरियों का इस्तेमाल हुआ। कोरोना महामारी के खतरे के कारण इस साल बजट सत्र की अवधि भी कम कर दी गई थी। लोकसभा के पूर्व महासचिव पीडीटी आचार्य ने कहा कि एक साल में संसद का तीन सत्र आयोजित करने की परंपरा है। यह कोई नियम नहीं है। संविधान के मुताबिक दो सत्रों के बीच छह महीने या ज्यादा का अंतराल नहीं होना चाहिए।

आचार्य ने कहा कि अगर संसद के दो सत्रों को समाहित कर दिया जाए और इस साल केवल दो सत्रों का आयोजन हो तो इससे किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं होगा। बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले सप्ताह बुधवार को कोरोना के सबसे ज्यादा 8593 मामले आए थे। पिछले पांच महीने में सबसे ज्यादा गुरुवार को 104 लोगों की मौत हुई। संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के बाद केंद्र ने रविवार को घर-घर सर्वेक्षण करने समेत कई कदमों की घोषणा की है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Nov 16, 2020 10:03 PM

सब समाचार

+ और भी पढ़ें