Winter Session: राहुल गांधी ने किसानों को मुआवजे देने के मुद्दे पर लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव का नोटिस

Winter Session: राहुल गांधी ने किसानों को मुआवजे देने के मुद्दे पर लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव का नोटिस

राहुल गांधी किसान आंदोलन के दौरान मारे गए 500 से अधिक किसानों की एक सूची लोकसभा में रखेंगे

अपडेटेड Dec 07, 2021 पर 11:16 AM | स्रोत : Moneycontrol.com

Parliament Winter Session 2021: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने तीन विवादित कृषि कानूनों को लेकर किसान आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों को मुआवजे देने के मुद्दे पर मंगलवार को लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया। राहुल गांधी किसान आंदोलन के दौरान मारे गए 500 से अधिक किसानों की एक सूची पिछले दिनों सार्वजनिक की थी। रिपोर्ट के मुताबिक वह यह सूची आज लोकसभा के पटल पर रखेंगे।

Beijing Olympics: अमेरिका ने बीजिंग में होने वाले विंटर ओलंपिक का किया राजनयिक बहिष्कार का ऐलान, चीन ने भी दी धमकी

इससे पहले राहुल गांधी ने कृषि कानून विरोधी आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों का रिकॉर्ड सरकार के पास नहीं होने को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर असंवेदनशील और कायराना तरीके से व्यवहार करने का आरोप लगाया और कहा कि उन्हें मानवता दिखाते हुए इन शहीद किसानों के परिवारों को उचित मुआवजा प्रदान करना चाहिए।

राहुल गांधी ने जारी की 500 से अधिक मृतक किसानों की लिस्ट

राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि सरकार के पास मृत किसानों का कोई रिकॉर्ड नहीं है। उनको ये नहीं मालूम है कि किन 700 किसानों ने आंदोलन के दौरान शहादत दी। हमने थोड़ा काम किया। पंजाब की सरकार के पास 403 नाम हैं, जिनके परिवार वालों को हमारी सरकार ने 5-5 लाख रुपये का मुआवजा दिया है। 152 किसानों के पारिवारों के सदस्यों को हमने नौकरी दी है और बाकी लोगों को भी नौकरी देने वाले हैं।

Omicron in Uttar Pradesh: ओमीक्रोन को लेकर योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानिए पूरी डिटेल

उन्होंने कहा कि आंदोलन के समय जान गंवाने वाले किसानों की सूची यहां है, जिसमें 503 नाम हैं। बाकी किसानों के नाम सार्वजनिक रिकॉर्ड से हमारे पास हैं। उनको सत्यापित करने के बाद सरकार सभी ऐसे 700 से अधिक किसानों के परिजनों को मुआवजा दे, जिनकी मौत आंदोलन के दौरान हुई। गांधी ने दावा किया कि सरकार कोरोना महामारी में मारे गए लोगों और किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को मुआवजा नहीं देना चाहती है, जिस वजह से वह मौत के आंकड़े स्वीकार नहीं कर रही है।

पीएम मोदी से की मानवता दिखाने की अपील

राहुल ने जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री और सरकार को मानवता दिखाते हुए किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को उचित मुआवजा देना चाहिए। कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि जब प्रधानमंत्री ने अपनी गलती स्वीकार कर ली, माफी मांग ली तो फिर मुआवजा देने में क्या परेशानी है? उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के पास किसानों, मजदूरों और गरीबों के लिए पैसे नहीं हैं, लेकिन तीन-चार पूंजीपतियों के लिए उसके पास पैसे की कोई कमी नहीं है।

सरकार बोली- मृतक किसानों का नहीं है आंकड़ा

सरकार ने गत 30 नवंबर को बताया था कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के आसपास कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान मृत किसानों की संख्या संबंधी आंकड़ा कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास नहीं है। लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह जानकारी दी थी। तोमर ने बताया था कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के पास इस संबंध में कोई आंकड़ा नहीं है।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Dec 07, 2021 11:16 AM