जानें, महिला सांसदों के साथ शशि थरूर ने सेल्फी ट्वीट कर कैप्शन में ऐसा क्या लिख दिया कि भड़क गए लोग? मांगनी पड़ी माफी

जानें, महिला सांसदों के साथ शशि थरूर ने सेल्फी ट्वीट कर कैप्शन में ऐसा क्या लिख दिया कि भड़क गए लोग? मांगनी पड़ी माफी

कई इंटरनेट यूजर्स ने उन पर लिंग के आधार पर भेदभाव और आपत्तिजनक व्यवहार करने का आरोप लगाया

अपडेटेड Nov 29, 2021 पर 8:56 PM | स्रोत : Moneycontrol.com@ShashiTharoor

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को छह महिला सांसदों के साथ अपनी एक सेल्फी शेयर की और उसके साथ कैप्शन में लिखा कि कौन कहता है कि लोकसभा काम करने के लिए आकर्षक जगह नहीं है। हालांकि, इसको लेकर सोशल मीडिया पर विवाद खड़ा हो गया और कुछ लोगों ने उन पर लिंग के आधार पर भेदभाव की भावना रखने का आरोप लगाया।

ये भी पढ़ें- Omicron Variant: कर्नाटक के के स्वास्थ्य मंत्री बोले- 'दक्षिण अफ्रीका से आए व्यक्ति का सैंपल Delta वेरिएंट से अलग है'

मांगनी पड़ी माफी

विवाद बढ़ता देख बाद में थरूर ने 'कुछ लोगों को ठेस पहुंचाने' के लिए माफी मांगी और कहा कि महिला सांसदों के कहने पर ही यह सेल्फी ली गई और ट्विटर पर पोस्ट की गई तथा यह सब अच्छे मिजाज के साथ किया गया।

उन्होंने कहा कि सेल्फी (महिला सांसदों की पहल पर ली गई) का मकसद हास्य था और उन्होंने ही मुझे उसी भावना से ट्वीट करने के लिए कहा था, मुझे खेद है कि कुछ लोगों को बुरा लगा, लेकिन मुझे इस सौहार्द्रपूर्ण माहौल में काम करना पसंद हैं, बस इतना ही है।

कौन थीं 6 सांसद?

थरूर ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से सुप्रिया सुले, परनीत कौर, थमीजाची थंगापंडियन, मिमी चक्रवर्ती, नुसरत जहां रूही और ज्योतिमणि के साथ सेल्फी ट्वीट करते हुए लिखा, "कौन कहता है कि लोकसभा काम करने के लिए आकर्षक स्थान नहीं है? आज सुबह अपनी छह साथी सांसदों के साथ।"

यूजर्स ने की आलोचना

कई इंटरनेट यूजर्स ने उन पर लिंग के आधार पर भेदभाव और आपत्तिजनक व्यवहार करने का आरोप लगाया। वहीं, राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया, "आप इन्हें आकर्षण की वस्तु के तौर पर पेश करके संसद एवं राजनीतिक में इन महिला सांसदों के योगदान को कमतर कर रहे हैं। संसद में महिलाओं को वस्तु की तरह पेश करना बंद करिए।"

ये भी पढ़ें- राज्यसभा में कांग्रेस, TMC और शिवसेना के 12 सांसद निलंबित, शीतकालीन सत्र में नहीं ले पाएंगे हिस्सा

वहीं, वकील करुणा नंदी और कुछ अन्य लोगों ने भी थरूर की आलोचना की। इसके बाद थरूर ने कहा कि यह सेल्फी महिला सांसदों की पहल थी जो अच्छे मिजाज में ली गई थी और इन महिला सांसदों ने इसी भावना के साथ इस तस्वीर को ट्वीट करने के लिए कहा था। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा और कुछ अन्य यूजर्स ने थरूर का बचाव भी किया।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Nov 29, 2021 8:56 PM